छत्तीसगढ़

प्रदेश में खुलेंगे 30 नये सरकारी कॉलेज

रायपुर: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के युवाओं को उच्च शिक्षा की सुविधा देने के लिए नये शिक्षा सत्र 2018-19 में 30 नये सरकारी कॉलेजों की सौगात दी है। उन्होंने इन कॉलेजों की स्थापना के लिए उच्च शिक्षा विभाग के प्रस्तावों को हरी झण्डी दे दी है।

रायपुर: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के युवाओं को उच्च शिक्षा की सुविधा देने के लिए नये शिक्षा सत्र 2018-19 में 30 नये सरकारी कॉलेजों की सौगात दी है। उन्होंने इन कॉलेजों की स्थापना के लिए उच्च शिक्षा विभाग के प्रस्तावों को हरी झण्डी दे दी है।

उच्च शिक्षा मंत्री श्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने आज यहां बताया कि विगत कुछ वर्षों में राज्य में 105 नये सरकारी कॉलेज खोले गए। इनमें से 58 कॉलेजों की स्थापना दूर-दराज के इलाकों और आदिवासी क्षेत्रों में की गई। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ के सभी पांच राजस्व संभागीय मुख्यालयों में राज्य शासन द्वारा विश्वविद्यालय स्थापित किए जा चुके हैं।

श्री पाण्डेय ने यह भी बताया कि मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुरूप नये शिक्षा सत्र 2018-19 में राज्य में 30 नये सरकारी खोले जाएंगे। इसके लिए 15 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है। उन्होंने बताया कि इन कॉलेजों की स्थापना क्रमशः लखनपुर (जिला सरगुजा), गोहरापदर (जिला गरियाबंद), मनोरा (जिला जशपुर), ओड़गी (जिला सूरजपुर), बागबहार और मनोरा (जिला जशपुर),जटगा (जिला कोरबा), मैनपाट (जिला सरगुजा), नरहरपुर (जिला कांकेर), केल्हारी (जिला कोरिया) में की जाएगी।

इसी कड़ी में औंधी (जिला-राजनांदगांव), झलमला (जिला-कबीरधाम), ठेलकाडीह (जिला-राजनांदगांव), पिरदा, चिरको और तेन्दूकोना (जिला महासमुन्द)में भी कॉलेज खोलने की स्वीकृति मुख्यमंत्री ने प्रदान कर दी है।

श्री पाण्डेय ने बताया कि बजट घोषणा के अनुरूप नये शिक्षा सत्र 2018-19 में मचान्दूर और जामुल (जिला दुर्ग), सिलौटी (जिला-धमतरी), भाठागांव, समोदा और गुढि़यारी (जिला रायपुर), सोनाखान , वटगन, और मोपका-निपनिया (जिला बलौदाबाजार), कुईकुकदुर (जिला कबीरधाम), परपोड़ी (जिला दुर्ग), माहुद-बी (जिला बालोद), बिर्रा (जिला-जांजगीर चांपा), अमोरा (जिला-मुंगेली) में कॉलेज खोले जाएंगे।

Summary
Review Date
Reviewed Item
प्रदेश में खुलेंगे 30 नये सरकारी कॉलेज
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.