राष्ट्रीय

तेज बारिश और बाढ़ के कारण महाराष्‍ट्र में अब तक 30 लोगों की मौत

केरल में 42 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी

नई दिल्‍ली: मुंबई महाराष्ट्र में बाढ़ ने जमकर तबाही मचाई है और अब तक 30 लोगों की मौत हो चुकी है. 2.03 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

वहीं केरल में 42 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. कर्नाटक में भी बाढ़ से हालत काफी खराब हैं. यहां करीब 10 लोगों की मौत हुई है. सेना, वायुसेना, नौसेना, एनडीआरएफ समेत अन्‍य टीमें बचाव अभियान में जुटी हैं. तीनों राज्‍यों के बाढ़ प्रभावित इलाकों से लाखों लोगों से सुरक्षित स्‍थानों पर पहुंचाया गया है. रेस्‍क्‍यू अभियान लगातार जारी है.

मौसम विभाग के अनुसार अगले दो दिन कोंकण और मध्‍य महाराष्‍ट्र के इलाकों में बारिश के आसार हैं. कोल्‍हापुर में बचाव दल की 22 टीमें काम कर रही हैं. जबकि सांगली में 11 टीमें काम कर रही हैं.

1 लाख हेक्‍टेयर कृषि भूमि को नुकसान

महाराष्‍ट्र के चीफ सेक्रेटरी अजय मेहता के मुताबिक महाराष्‍ट्र में बारिश के कारण 1 लाख हेक्‍टेयर कृषि भूमि को नुकसान पहुंचा है. नेशनल हाईवे-4 पर करीब 40 हजार ट्रक फंसे हुए हैं. महाराष्‍ट्र में बाढ़ के कारण करीब 2.85 लाख लोग विस्‍थापित किए गए हैं.

महाराष्‍ट्र के सांगली और कोल्‍हापुर में बाढ़ से हालात बेहद खराब हैं. ये दोनों ही जिले बाढ़ के पानी में डूबे हुए हैं. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक शुक्रवार को एनडीआरएफ की टीमों ने इन दोनों जिलों से करीब 10 हजार लोगों को सुरक्षित स्‍थान तक पहुंचाया है. सांगली जिले से करीब 8 हजार लोग बचाए गए हैं जबकि कोल्‍हापुर से 2000 हजार लोगों को बचाया गया है.

गुजरात में बनाए गए सरदार सरोवर बांध के गेट शुक्रवार को पहली बार खोलकर पानी छोड़ा गया है. इस बांध में पानी के स्‍तर की सीमा 131 मीटर है. इसे ही बरकरार रखने के लिए इससे पानी छोड़ा गया है. बता दें कि गुजरात में भी तेज बारिश हो रही है.

भारतीय सेना के अनुसार महाराष्‍ट्र, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए सेना की 123 रेस्‍क्‍यू टीमें लगाई गई हैं. ये टीमें चारों राज्‍यों के 16 बाढ़ प्रभावित जिलों में रेस्‍क्‍यू अभियान चला रही हैं.सेना बचाव अभियान में जुटी.

Tags
Back to top button