उत्तर भारत में आए चक्रवाती तूफान से अब तक 31 लोगों की मौत

बारिश, ओले और आंधी की वजह से कई राज्‍यों में फसलों को भारी नुकसान

नई दिल्ली: उत्तर भारत में चल रही चक्रवाती तूफान के चलते 31 लोगों की मौत हो गई है। वहीं बारिश, ओले और आंधी की वजह से राजस्‍थान, गुजरात, मध्‍य प्रदेश, उत्‍तर प्रदेश समेत देश के कई राज्‍यों में फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की हैं। केंद्र सरकार ने गुजरात में मृतकों के परिजनों को 2 लाख और घायलों को 50 हजार देने की घोषणा की है। मौसम विभाग ने आज भी आंधी-तूफान का अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग के मुताबिक बुधवार को देश के कई राज्यों में तेज हवाएं चल सकती हैं। हवाओं की रफ्तार 50 किलोमीटर प्रति घंटा तक रह सकती है। मध्य प्रदेश के नीमच, मन्दसौर, राजगढ़, शाजापुर, सीहोर, भोपाल, गुना, विदिशा, भिंड, दतिया और अशोकनगर में तेज आंधी तूफान का अलर्ट है।

राजस्थान के प्रतापगढ़ और झालावाड़ में तेज आंधी और बारिश से आम जनजीवन पर काफी असर पड़ा है। कई जगहों पर पेड़ उखड़ गए और बिजली के खंभे सड़क पर आ गिरे जिससे आवाजही भी प्रभावित हुई।

राजस्थान में आंधी-तूफान की वजह से 9 लोगों की मौत हो गई व 20 लोग घायल हुए हैं। उदयपुर में बिजली के 800 पोल और 70 ट्रांसफार्मर गिर गए। उदयपुर के रेलवे स्टेशन के टीन छत उड़ गए।

गुजरात में भी आंधी-तूफान के कारण 11 लोगों की मौत हो गई। अहमदाबाद, राजकोट, बनासकांठा, पाटन, महेसाना, साबरकांठा, आणंद, खेड़ा में बेमौसम बारिश के वजह से किसानों की फसल पूरी तरह बर्बाद हो गई। पीएम मोदी की गुजरात में आज तीन रैलियां थी। उनके स्वागत में लगे होर्डिंग तेज हवाओं से गिर गए और टैंट भी उखड़ गए।

1
Back to top button