32 साल बाद पति-पत्नी हुए एक, जजों ने पहनवाई कोर्ट में वरमाला

जांजगीर-चांपा।

आमतौर पर पति-पत्नी के मामलों में अदालतों में अलग होने के ही किस्से सुनी और देखी जाती है। लेकिन पहली बार ऐसा देखा गया कि कोर्ट में पति-पत्नी फिर से एक हो गए और वो भी 32 साल बाद। खासबात यह रही की कि कोर्ट के जजों ने ही दोनों को एक दूसरे से वरमाला पहनवाई और घर भेज दिया।

जी हां जांजगीर-चांपा कोर्ट में आज कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला। जहां 32 साल बाद फिर से एक हुए पति-पत्नी को कोर्ट में ही जिला एवं सत्र न्यायाधीश सहित सभी जजों ने दोनों से आपस में वरमाला पहनवाकर फिर से नए दांपत्य जीवन की शुरूआत कर दी।

जांजगीर कोर्ट में आज राष्ट्रीय लोक अदालत लगाई गई थी। वर्ष 1986 से अलग रह रहे मोतीराम साहू और मीरा बाई आज कोर्ट में जज के सामने पेष हुए।

दरअसल ये दोनों अपनी वजह से नहीं बल्कि परिवारों में चल रहे मतभेद के कारण सालों से अलग रह रहे थे। कुटुंब न्यायालय के परामर्ष के बाद दोनों परिवारों में फिर से सुलह कराई गई। इसके बाद जज के फैसला सुनाते ही परिसर में खुषी की लहर दौड़ गई। ये दोनों जांजगीर चांपा जिले के बिर्रा क्षेत्र के सिलादेही गांव के रहने वाले हैं।

Tags
Back to top button