दो महीने में कैंसिल हुई 35 ट्रेनें, कई गाड़ियों को रास्ते में रोका

20 हजार यात्री हुए हलाकान

रायपुर।

पटरी सुधारने के लिए रेलवे के ब्लाक के कारण पिछले दो महीने के दौरान 35 लोकल ट्रेनें कैंसिल की गई। इन ट्रेनों के यात्री रविवार को भी खासे परेशान हुए, जब डोंगरगढ़ से लेकर बिलासपुर के बीच चलने वाली 3 गाड़ियों को कैंसिल किया गया। वहीं कई ट्रेनों को चार से पांच घंटे तक देरी से चलाया गया। रेलवे ने यह ब्लाक बिलासपुर से दुर्ग-कलमना सेक्शन तक लिया था। इस ब्लाक का असर सोमवार को भी गाड़ियों के परिचालन पर रहेगा।

रायपुर जंक्शन से हर दिन 20 हजार लोकल टिकट बिकता है। लोकल गाड़ियां कैंसिल होने से दैनिक यात्री सबसे अधिक परेशान हुए। छोटे स्टेशनों पर एक्सप्रेस गाड़ियों का स्टॉपेज नहीं होता। डब्ल्यूआरएस, सिलयारी, कुम्हारी, सरोना जैसे स्टेशनों के यात्रियों के आवाजाही का मुख्य साधन मेमू ट्रेनें ही होती हैं। इस ब्लाक में बिलासपुर से लेकर गोंदिया तक रेल यातायात प्रभावित हुआ।

पांच घंटा देरी से रवाना हुई रायपुर लोकल: बिलासपुर से छूटने वाली 68727 बिलासपुर-रायपुर मेमू, रायपुर से छूटने वाली 68729 रायपुर-डोंगरगढ मेमू रद्द रखी गई। जबकि रायपुर की लोकल ट्रेन 5 घंटा देरी से चलाई गई। इस ट्रेनें के इंतजार में प्लेटफार्म ए-1 यात्रियों से पूरी तरह से भरा नजर आया। 26 नवम्बर को डोंगरगढ़ से छूटने वाली 68730 डोंगरगढ़-रायपुर मेमू रद्द रहेगी।

आधा दर्जन गाड़ियां कई घंटे लेट: टाटानगर-इतवारी पैसेंजर 4 घंटा और गेवरारोड- इतवारी शिवनाथ एक्सप्रेस को गेवरारोड से 3 घंटा और भगत की कोठी 4 घंटा, सारनाथ एक्सप्रेस 12 घंटा, बरौनी एक्सप्रेस 3 घंटा, नवतनवा एक्सप्रेस दो घंटा, गोंडवाना एक्सप्रेस 2 घंटा देरी से चली।

गाडिय़ों की बढ़ेगी स्पीड

सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर शिव प्रसाद पंवार ने बताया कि रेलवे की प्राथमिकता के अनुसार लगातार पटरी सुधार का काम चल रहा है। हर सेक्शन में पटरियां दुरुस्त होने से गाड़ियां स्पीड़ से चलेंगी। खासतौर पर रायपुर-बिलासपुर मुख्य रेल लाइन पर। आगे भी मरम्मत कार्य जारी रहेगा।

1
Back to top button