दिल्ली के द्वारका जिले में 36 गायों की मौत, मामले की जांच में जुटी पुलिस

खानपान में कमी और उचित रखरखाव और स्वास्थ्य देखभाल के अभाव में यहां रहने वाली गायों की स्थिति बहुत बुरी है।

नई दिल्ली: दिल्ली के द्वारका जिले के छावला थाना इलाके की एक गौशाला में दो दिन के अंदर 36 गायों के मरने का मामला सामने आया है। इस गौशाला में डेढ़ से दो हजार गायों को रखा जाता है।

लेकिन खानपान में कमी और उचित रखरखाव और स्वास्थ्य देखभाल के अभाव में यहां रहने वाली गायों की स्थिति बहुत बुरी है। शुरूआती जांच पड़ताल के बाद डॉक्टरों का कहना है कि संभवतः गायों की मौत गंदगी और कीचड़ की वजह से हुई किसी बीमारी की वजह से नहीं हुई है।

यह कोई पहला मामला नहीं है, जब एक साथ इतनी गायों ने दम तोड़ा। इसी हफ्ते मध्य प्रदेश के अलीराजपुर जिले के नानपुर की एक गौशाला में भी 25 गायों की मौत हो गई थी।

यहां शुरुआती जांच में मौके पर पहुंचे डॉक्टरों ने कहा था कि गायों की मौत की वजह फूड प्वाइजनिंग हो सकती है। इससे पहले उत्तर प्रदेश में भी ऐसी घटना सामने आई थी जिसमें एक गौशाला में करीब 250 गायों की मौत हो गई थी। इसके अलावा राजस्थान से भी लगातार इस तरह की घटनाएं सामने आ चुकी हैं।

उन्हें गाय की मौत के बारे में बताया तो चुप रहने को कहा. नियम कहता है की इस तरह गाये के शव को एमसीडी लेकर जाती है लेकिन पिछले 5 दिन से कोई नही आया.

इसलिए बीमारी ना फैले और दूसरी गाय बीमार ना हो जाए इसलिए गाँव के लोगो ने गौशाला में ही गड्ढा खोद दिया जिससे गाय के शव को वहां दबाए जा सकें,फिलहाल पुलिस को जानकारी दी गयी है जो मामले की जांच कर रही है.

Back to top button