36 साल बाद नसीब हुआ गजानंद को अपनी धरती

भारी भीड़ ने गजानंद का गर्मजोशी से स्वागत किया.

नई दिल्ली : जब पाकिस्तान की जेल से निकलकर गजानंद शर्मा 36 साल के लंबे अंतराल के बाद अपने घर जयपुर पहुंचे तो भारी भीड़ ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया. खुशी के मारे गजानन के घरवाले बस सब को धन्यवाद दिए जा रहे थे.

पहली बार अपने पोते को देख गजानंद शर्मा खिल-खिला उठे. बीजेपी ने गजानन का स्वागत खुली जीप में घर ले जाकर किया.

62 वर्षीय बूढ़ी आंखों का 36 साल का इंतजार आज खत्म हो गया. गजानंद की पत्नी मखनी देवी 36 साल बाद अपने पति को देख रही हैं. एक दूसरे को माला पहनाकर मखनी देवी ने गजानंद का स्वागत किया.

गजानन जयपुर में हो रहे इस भव्य स्वागत को देख अभिभूत है तो मखनी की आंखें नम थीं. लोगों की भीड़ इतनी ज्यादा था कि गजानंद सभी को बस आशीर्वाद दे पा रहे थे. तीन दशक बाद अपने घर जयपुर आ रहे गजानन के स्वागत के लिए भारी भीड़ इंतजार कर रही थी.

कार रुकी तो गजानंद को गाड़ी से निकालना मुश्किल हो रहा था. पत्नी मखनी देवी को बुलाया गया तो वो पति का चेहरा देखने से पहले पैरों में गिर पड़ी. गजानंद ने अपनी पत्नी को उठाया.

कई मौके ऐसे होते हैं जब शब्द अपनी भावना व्यक्त करने के लिए नहीं मिलते हैं. कुछ ऐसा ही गजानंद और उनकी पत्नी के साथ हो रहा था.

मखनी देवी ने सभी को कहा धन्यवाद

दोनों बस इतना कह रहे थे कि वो बहुत खुश हैं. गजानंद कह रहे थे कि उन्हें घर आकर बहुत अच्छा लग रहा है. मखनी देवी सभी को धन्यवाद दे रही थी कि सबने मिलकर मेरे पति को मुझसे मिलवा दिया.

जयपुर के नाहरगढ़ थाना इलाके में माउंट रोड पर फतेहराम का टीबा निवासी गजानंद शर्मा के परिवार में उनकी 62 वर्षीय पत्नी मखनी देवी, दो बेटे राकेश और मुकेश के अलावा बहुएं और पोते हैं. गजानंद शर्मा ने जब अपने पोते को देखा तो खिलाखिला उठे.

Tags
Back to top button