छत्तीसगढ़

कोरोना को हराकर आज तक 37 पुलिसकर्मी वापस लौटे ड्यूटी पर

05 का उपचार जारी, ड्युटी दौरान अब तक 42 पुलिसकर्मी हो चुके हैं संक्रमित

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

जिले में जिला पुलिस बल रायगढ़, 6वीं वाहिनी, नगर सेना के साथ 8वीं, 10वीं, 12वीं एवं 13 वाहिनी का बल उपलब्ध है । कोरोनाकाल में ड्युटी करते हुये अब तक 42 पुलिसकर्मी संक्रमित हो चुके हैं । जिनमें से 37 जवान कोरोना को मात देकर स्वस्थ हुए और वापस अपने कार्य पर लौट आये हैं । 05 पुलिसकर्मी अभी भी इलाजरत/होम आइसोलेशन पर हैं ।

संक्रमित होने वालों में केवल 03 पुलिसकर्मियों की ट्रेवल हिस्टी है । शेष ड्युटी करते हुये ही संक्रमितों के संपर्क में आये हैं । संक्रमितों में चौकी खरसिया, दूरसंचार एवं एसपी आफिस से 1-1 सहायक उप निरीक्षक है । इसके अलवा एसपी बंगला, एसपी आफिस, एडिशनल एसपी का ड्रायवर व बंगले में कार्यरत एक जवान, थाना सारंगढ़, पूंजीपथरा, तमनार, घरघोड़ा, कोतरारोड़, कोतवाली, जिला विशेष शाखा तथा 6वीं, 8वीं, 10वीं, 12वीं एवं 13 वाहिनी के जवान है ।

थाना को भी कंटेनमेंट जोन घोषित कर अन्य थानों से कार्य का संचालन जारी

एसपी एवं एडिशनल एसपी बंगला में कार्यरत जवान के कोविड पॉजिटिव की पुष्टि होने के बाद एसपी एवं एडिशनल एसपी स्वयं को बंगले में आइसुलेट किये किन्तु कहीं भी कार्य की गति नहीं रूकी । यही नही कभी न बंद होने वाले थाना को भी कंटेनमेंट जोन घोषित कर अन्य थानों से कार्य का संचालन जारी रखा गया ।

वहीं इन दोनों अधिकारियों के कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद वे पुन: कार्य में लौट आये। पुलिसकर्मियों के संक्रमित होने पर एसपी  संतोष सिंह द्वारा स्टाफ का लगातार कोरोना जांच कराने के निर्देश दिये हैं।

पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह सहित सभी अधिकारियों द्वारा विपरित परिस्थितियों में सेवाएं दे रहे पुलिसकर्मियों का लगातार हौसला बढ़ाया जा रहा है। लॉकडाउन दौरान स्वयं एसपी संतोष कुमार सिंह केन पकड़े फील्ड पर नजर आये तो एडिशनल एसपी अभिषेक वर्मा, सीएसपी अविनाश सिंह एवं थानेदार भी चौक-चौंराहों में ड्युटी करते देखे गये हैं । वर्तमान में एकाएक जिले में संक्रमितों की संख्या में इजाफा हुआ है, किन्तु जिला पुलिस एवं सशस्त्र वाहिनी के अधिकारी एवं कर्मचारी पूर्व की भांति कोरोना के विरूद्ध डटे हुये हैं जिनका मकसद जिलेवासियों को संक्रमण से बचाना है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button