छत्तीसगढ़

सिंगरौली में आया 4.6 तीव्रता का भूकंप

शाम 7.44 बजे 5 से 8 सेकंड रहा असर, लोग घरों से बाहर निकले

सिंगरौली : सिंगरौली में शाम 7.44 बजे अचानक भूकंप के तीव्र झटके से लोगों के बीच ऑफर-तफरी का माहौल निर्मित हो गया,जोरदार ब्लास्टिंग के साथ आये भूकंप से लोग सहम गए और जो जिस हाल में था घरों से बाहर निकल सड़क पर आ गया। हालाकि भूकंप से किसी प्रकार के हताहत की जानकारी नही है।

सिंगरौली जिला सहित पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में भी भूकंप के झटके महसूस किया गया। शाम 7.44 बजे अचानक आये भूकम्प से एक, दो नही बल्कि तीन तीन मंजिला मकान हिलने लगा और घरों का सामान इधर उधर गिरने लगा।

लोग किसी तरह से अपने आप को संभाल घरों से बाहर निकल सड़क पर पहुंचे। बताया गया कि भूकंप की तीव्रता 4.6 रहा है। यह पुष्टि सिंगरौली अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सूर्यकान्त शर्मा ने भी किया। हालाकि गूगल पर यह तीव्रता 5.3 दिखा रहा है। भूकंप का असर वैढन, विन्ध्यनगर , जयंत, मोरवा, बरगवां, अनपरा, शक्तिनगर ,बीना आदि 30 किलोमीटर एरिया में रहा।

भूकंप से कई घरों में दरारें आ गयी है। बरहाल भूकम्प से कोई हताहत नही हुआ है। लेकिन लोग दहशत में है और अपने घरों में जाने से डर रहे हैं। जिले में भूकंप का असर तकरीबन 5 से 8 सेकंड तक रहा है। भूकंप के बाद घरों से बाहर सड़क पर एकत्रित लोग भूकंप के 1 घण्टे बाद अपने आप को संभाल घरों के अंदर गए लेकिन सभी अभी भी डरे सहमे हुये है।

जानकारों की माने तो सिंगरौली में इतनी तीव्रता का भूकंप अब से पहले लोगो ने कब महसूस किया हो ये क्षेत्रीय जनों का याद नही है। सिंगरौली औद्योगिक क्षेत्र होने की वजह से कोल माइंस एरिया में आये दिन ब्लास्टिंग होती रहती है लेकिन आज का ब्लास्टिंग व भूकंप को लोगो को भूलने में समय लगेगा।

भूकम्प के साथ एनटीपीसी का बायलर हुआ ट्रिप : गौरतलब हो कि जिस समय भूकंप आया उसी समय एनटीपीसी पवार प्लांट विन्ध्यनगर में स्थित 13 नंबरका बायलर भी ट्रिप हो गया जिससे जोरदार आवाज आई।

लोग सोचे ट्रिप होने से जोरदार ब्लास्टिंग के साथ भूकंप का झटका आया है, लेकिन बायलर ट्रिप से आये भूकंप के अफवाह को खारिज करते हुए एनटीपीसी विन्ध्यनगर पी आर ओ सतीश श्रीवास्तव ने बताया कि बायलर का भूकंप से कोई लेना देना नही है। भूकंप को एनटीपीसी कालोनी में भी महसूस किया गया।

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.