सुरक्षा बलों और तालिबान के बीच मुठभेड़ के दौरान स्कूल में विस्फोट, 4 छात्रों की मौत

काबुल। अफगानिस्तान के पूर्वी गजनी प्रान्त में पुलिस के एक नाके पर शनिवार को तालिबानी हमले के दौरान एक स्कूल में विस्फोट होने से चार छात्रों की जान चली गई। प्रान्तीय गवर्नर के प्रवक्ता आरिफ नूरी ने बताया कि 15 छात्रों और दो शिक्षकों सहित अन्य 17 अन्य लोग विस्फोट में घायल भी हुए हैं। ऐसा प्रतीत होता है अंडार जिला स्थित स्कूल में रॉकेट गिरने से विस्फोट हुआ।

प्रवक्ता ने बताया कि मारे गए बच्चों की उम्र 10 से 16 वर्ष के बीच है। उन्होंने बताया कि प्रान्तीय अधिकारी यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि सुरक्षा बलों और तालिबान के बीच मुठभेड़ के दौरान स्कूल पर रॉकेट किसने दागा। हमले की तत्काल किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है।

इस बीच, तालिबान विद्रोहियों ने बदख़्शान प्रान्त के जिला मुख्यालय पर कब्जा कर लिया। प्रान्तीय गवर्नर के एक प्रवक्ता नेक मोहम्मद ने कहा, ”नागरिक को बचाने के लिए अफगान सुरक्षा बल अरगंज खोवा जिला मुख्यालय से हट गए।” उन्होंने बताया कि तालिबान को हटाने के लिए अतिरिक्त बल भी भेजा गया है। तालिबान के प्रवक्ता जैबीदुल्ला मुजाहिद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

अफगानिस्तान में पुलिस जांच चौकी पर हमला, 9 मरे

वहीं दूसरी ओर अफगानिस्तान के जाबुल प्रांत में शनिवार को एक पुलिस जांच चौकी पर किए गए हमले में नौ पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। प्रांतीय परिषद के एक सदस्य एटा जेन हकबयान ने कहा कि हमला शनिवार तड़के किया गया और हमलावर नौ पुलिसकर्मियों की हत्या करने के बाद भागने में सफल रहे।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, “तालिबान ने हमले की पुष्टि की है और एक बयान में दावा किया है कि आठ सुरक्षाकर्मी मारे गए हैं और एक अन्य को जिंदा पकड़ लिया गया है।” बयान में यह भी कहा गया है कि हमले में तालिबान समूह के सात समर्थक शामिल थे।

Back to top button