राष्ट्रीय

प्रदेश में 443 और पक्षियों की मौत, राज्य के 16 जिले बर्ड फ्लू संक्रमित

अबतक दस राज्यों में बर्ड फ्लू (एवियन इन्फ्लूएंजा) की पुष्टि

नई दिल्ली: राजस्थान में 443 और पक्षियों की मौत हो गई. राज्य के 33 जिलों में से 16 जिले बर्ड फ्लू संक्रमण से प्रभावित है. जांच के लिए भेजे गए 251 नमूनों में से 62 नमूनों में संक्रमण पाया गया है. अबतक दस राज्यों में बर्ड फ्लू (एवियन इन्फ्लूएंजा) की पुष्टि हुई है.

डीएएचडी के सचिव की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंस बैठक हुई, जिसमें 17 राज्यों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया. बैठक में राज्यों को सलाह दी गई कि वे कार्ययोजना 2021 के अनुसार अपने-अपने राज्यों में एवियन इन्फ्लूएंजा फैलने से रोकने का कारगर प्रबंध करें.

सुरक्षा उपकरण की पर्याप्त सप्लाई बनाए रखें- राज्यों से केंद्र स्थिति से निपटने के लिए राज्यों से स्वास्थ्य और वन विभाग के साथ ताल-मेल करने और उन्हें इस मामले में संवेदी बनाने को कहा गया है.

राज्यों से यह भी कहा गया है कि वे सुरक्षा उपकरण की पर्याप्त सप्लाई बनाए रखें और पोल्ट्री फार्मों में जैव सुरक्षा उपायों को जारी रखें. राज्यों को संक्रमण की पहचान करने और समय से नियंत्रण व्यवस्था करने में तेजी के लिए राज्यस्तरीय बीएसएल-II प्रयोगशालाओं को चिन्हित करने का निर्देश दिया गया है.

राज्यों को यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा गया है कि वे पोल्ट्री में संक्रमण पर नियंत्रण रखें क्योंकि इससे कुक्कुट पालन करने वाले किसानों को अधिक आर्थिक कीमत चुकानी होगी. यह पाया गया कि अनेक राज्य दूसरे राज्यों से पोल्ट्री उत्पादों की सप्लाई पर प्रतिबंध लगा रहे हैं.

पोल्ट्री उद्योग पर इसके नकारात्मक प्रभाव को देखते हुए राज्यों से ऐसे निर्णय पर फिर से विचार करने का अनुरोध किया गया है. अनेक राज्यों द्वारा समाचार पत्रों में विज्ञापनों, सेमिनार आदि के माध्यम से जागरूकता गतिविधियां चलाई जा रही हैं.

क्या करें-क्या न करें पर परामर्श जारी करें

राज्य- केंद्र राज्यों को ऐसे जागरूकता कार्यक्रम अपने सूचना और जनसंपर्क निदेशालय के सहयोग से चलाने की लिए प्रोत्साहित किया गया. उन्हेंऐसी गतिविधियों के लिए धन की उपलब्धता का आश्वासन भी दिया गया. पोल्ट्री और अंडों की खपत के बारे में क्या करें और क्या न करें विषय पर राज्यों को परामर्श जारी करना चाहिए ताकि अफवाहों और गलत सूचना के प्रसार और कुक्कुट पालकों के नुकसान को टाला जा सके.

दिल्ली में पोल्ट्री उत्पाद या अंडे परोसने पर रोक बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए उत्तरी दिल्ली नगर निगम और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने एडवायजरी जारी की है. सभी होटल और रेस्टोरेंट संचालकों को आदेश दिया है कि पोल्ट्री उत्पाद या अंडे ना परोसें वरना उचित कार्यवाही होगी.

एडवायजरी के मुताबिक उत्तरी और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के अधीन आने वाली सभी मीट की दुकानों मीट की प्रोसेसिंग इकाइयों, किसी भी अन्य स्थान पर जीवित मुर्गा व मुर्गियां इत्यादि रखने उनका क्रय विक्रय करने और उनके मांस की प्रोसेसिंग, पैकेजिंग और बिक्री करने पर तत्काल प्रभाव से अगले आदेश तक पूरी तरह से बैन लगाया गया.

दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने शहर में बर्ड फ्लू के मामलों के मद्देनजर बुधवार को एक परामर्श जारी किया जिसमें लोगों से नहीं घबराने और आधा पका चिकन, आधा उबला या आधा तला हुआ अंडा नहीं खाने समेत दिशा-निर्देशों के पालन की अपील की गई है.

राजस्थान में बर्ड फ्लू से 16 जिले प्रभावित राजस्थान में 443 और पक्षियों की मौत हो गई. राज्य के 33 जिलों में से 16 जिले बर्ड फ्लू संक्रमण से प्रभावित है. जांच के लिए भेजे गए 251 नमूनों में से 62 नमूनों में संक्रमण पाया गया है.

पशुपालन विभाग की रिपोर्ट के अनुसार बुधवार को 296 कौए, 34 कबूतर, 16 मौर और 97 अन्य पक्षियों की मौत हो गई. रिपोर्ट के मुताबिक 25 दिसम्बर से अब तक राज्य में 4,390 पक्षियों की मौत हो चुकी है.

झारखंड-जम्मू कश्मीर के जिलों में पक्षियों की अस्वाभाविक मौत पक्षियों की अस्वभाविक मौत होने के नये मामले झारखंड और जम्मू कश्मीर में सामने आये हैं. केंद्र ने राज्य सरकारों को पॉल्ट्री उत्पादों की आपूर्ति पर प्रतिबंध नहीं लगाने को कहा है.

मत्स्यपालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय ने एक बयान में कहा , ”13 जनवरी तक 10 राज्यों में एवियन इंफ्लूएंजा के मामलों की पुष्टि हुई है. जम्मू कश्मीर के गंदेरबल जिले और झारखंड के चार जिलों में भी पक्षियों की अस्वाभाविक मौतें हुई हैं.’

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button