कबीरधाम जिले के धान खरीदी केन्द्रों में औचक निरीक्षण कर 451 कट्टा धान किया जब्त

हिमांशु सिंह ठाकुर - ब्यूरो कवर्धा

कवर्धा: कबीरधाम जिले के धान खरीदी केन्द्रों में बिचौलिए के माध्यम से धान खरीदी रोकने और पड़ोसी प्रांतो तथा जिलों से आने वाले में अवैध धान परिवहनों की निगरानी के लिए बनी संयुक्त टीम ने फिर चार अलग-अलग धान खरीदी केन्द्रों में औचक निरीक्षण कर 451 कट्ा धान जब्त किया।

पनेका धान समिति केन्द्र से 58 बोरा धान जब्त

पनेका धान समिति केन्द्र से 58 बोरा धान जब्त किया गया है। यहां जांच के दौरान मामूल हुआ कि किसान दीपचंद द्वारा 58 बोरा पुराना धान एवं अमानक धान बेचने के लिए लाया गया था। यह किसाना झिरौनी का रहने वाला है। किसान से धान जब्त कर समिति के सुपूर्द किया गया है।

सहसपुर लोहारा तहसील के कुरूवा धान समिति केन्द्र में औचक निरीक्षण के दौरान किसान बोरे लाल निवासी कोयलारी से 141 कट्ा धान और धन्नू निवासी कल्याणपुर से 24 कट्टा धान नया और पुराना धान का मिश्रण होने के कारण जब्त किया गया है।

पारी का 80 कट्टा धान जब्त

बीरेन्द्रनगर धान खरीदी से खातेदार पेखन से 20 कट्ा धान और प्रदीप सिंघानिया व्यापारी का 80 कट्टा धान जब्त किया गया है। जांच के दौरान पेखन द्वारा लाए गए 20 बोरी कट्टा धान अमानक पाया गया।

उनका टोकन भी रद्द करने की कार्यवाही की गई। इसी तरह व्यापारी प्रदीप सिंघानिया द्वारा लाए गए धान पतला और मोटा किस्म का धान को मिक्स कर दिया गया था।

अधिकारियों की संयुक्त टीम द्वारा कवर्धा-बेमेतरा मार्ग पर चलने वाले धान परिवहन ट्रेक्टर और अन्य माल वाहक वाहनों को रोक-रोक कर जांच किया गया।

जांच के दौरान पता चला कि 125 कट्टा धान को पड़ोसी बेमेतरा जिले से कवर्धा जिले में अवैध परिवहन कर लाया जा रहा था। राजस्व, खाद्य और मंड़ी के अधिकारियों द्वारा की गई इस कार्यवाही के बाद 125 कट्टा धान और माजदा वाहन को पिपरिया धाना के सुपुर्द किया गया है।

जिला नोडल अधिकारी व डिप्टी कलेक्टर अनिल सिदान ने बताया कि कलेक्टर अवनीश कुमार शरण के निर्देश में कबीरधाम जिले के सभी धान खरीदी केन्द्रों में सुचारू रूप से धान खरीदी की प्रक्रिया व निगरानी के लिए राजस्व,खाद्य और मंड़ी अधिकारियों की संयुक्त टीम बनाई गई है।

टीम द्वारा धान खरीदी केन्द्रो में सूचना के आधार पर और औचक निरीक्षण कर एजेंटो के माध्यम से धान बिक्री को रोकने के लिए लगातार कार्यवाही चल रही है।

उन्होने बताया कि संयुक्त टीम द्वारा 4 और 5 जनवरी को 6 धान समिति केन्द्रो में औचक निरीक्षण कर 3429 कट्टा धान को नियम विरूद्ध बिक्री रोकने में सफलता हासिल की है।

1
Back to top button