जिले में हुआ 214 करोड़ रूपये का 46 विभिन्न कार्यो का लोकार्पण एवं शिलान्यास – डॉ रमन सिंह

आम जनता की आकांक्षा एवं उम्मीदों के अनुरूप हुआ जिले का विकास

– पृथ्वीलाल केशरी

रामानुजगंज : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज बलरामपुर-रामानुजगंज जिले को 214 करोड़ रुपये के विकास कार्यो की सौगात दी। इनमें 125 करोड़ 66 लाख रूपये के 33 से अधिक कार्यों का लोकार्पण और 88 करोड़ रूपये के 13 विभिन्न कार्यों का शिलान्यास शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर जिले के तेंदूपत्ता संग्राहकों को 140 करोड़ रुपये का बोनस वितरण किया। अटल विकास यात्रा में मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा कि लोगों की आकांक्षा और उम्मीदों के अनुरूप बलरामपुर-रामानुजगंज जिले का विकास हुआ है। जिले का जब निर्माण हुआ था तब इस क्षेत्र के नदियो में पुल नहीं होने के कारण आवागमन में कठिनाई होती थी।

अंचल में पक्की सडकों का अभाव और बिजली के लो वोल्टेज की समस्या थी, यह समस्या पांच सालों में दूर हो गई है। विद्युतीकरण के कार्यों के लोकार्पण पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि 34 करोड़ रूपये के लागत से विकासखण्ड राजपुर के ग्राम चटकपुर में 132/33 के.व्ही उच्चदाब सब स्टेशन के निर्माण और वाड्रफनगर विकासखंड के ग्राम मोरन में 32 करोड़़ की लागत से 132/33 के.व्ही उच्चदाब सब स्टेशन तथा विकासखण्ड कुसमी के ग्राम सामरी में 2 करोड 50 लाख रूपये की लागत से 33/11 के.व्ही सब स्टेशन के निर्माण से इस क्षेत्र में लो वोल्टेज की समस्या दूर होगी।

डॉ.रमन सिंह ने कहा कि इस वर्ष प्रदेश में धान की अच्छी पैदावार होगी। किसानों को धान के बोनस का इंतजार नही करना पड़ेगा। धान की खरीदी के साथ किसानों को समर्थन मूल्य और बोनस की राशि 2050 रुपये भुगतान कर दिया जाएगा। डॉ.रमन सिंह ने कहा कि बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के निर्माण से यहां के लोगों को काम काज में सहूलियत हुई है। 35 विभागों के कार्यालय संचालित होने से जरूरी सेवाएं और सुविधाएं त्वरित रूप से उपलब्ध हुई है। कार्यक्रम को सरगुजा सांसद कमलभान सिंह एवं राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने भी संबोधित किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने 17 करोड़ 29 लाख रूपये की लागत से नवनिर्मित संयुक्त जिला कार्यालय भवन, 4 करोड़ 52 लाख रूपये के लागत से बलरामपुर में सर्किट हाऊस भवन, 8 करोड 99 लाख रूपये के लागत से रामानुजगंज में पॉलीटेक्निक भवन भाग-01 का निर्माण कार्य, 2 करोड़ 68 लाख 29 हजार रूपये के लागत से जिला मुख्यालय में ट्रांजिस्ट हॉस्टल का निर्माण, 2 करोड़ 40 लाख रूपये के लागत से लरंगसाय डिग्री कॉलेज रामानुजगंज में 14 नग अतिरिक्त कक्ष का निर्माण, 2 करोड़ 13 लाख 15 हजार रूपये के लागत से रामचन्द्रपुर में महाविद्यालय भवन का निर्माण, 84 लाख 82 हजार रूपये के लागत से विकासखण्ड राजपुर के ग्राम पंचायत सिधमा में प्री-मैट्रिक छात्रावास भवन का निर्माण, 1 करोड़ 94 लाख 68 हजार रूपये के लागत से विकासखण्ड रामचन्द्रपुर के ग्राम कनकपुर एवं चन्दननगर संयुक्त आश्रम भवन निर्माण, लोक निर्माण विभाग सेतु द्वारा 4 करोड़ 36 लाख 72 हजार रूपये के लागत से प्रतापपुर से कोल्हुआ-कोटराही मार्ग पर इरिया नदी में पुल निर्माण, 5 करोड़ 26 लाख 71 हजार रूपये के लागत से प्रतापपुर से चलगली से मानपुर मार्ग पर मोरन नदी में पुल निर्माण, 2 करोड़ 99 लाख 29 हजार रूपये के लागत से रामानुजगंज से कछिया से चलगली मार्ग पर पुल निर्माण, ग्रामीण यांत्रिकी संभाग रामानुजगंज के द्वारा विकासखण्ड वाड्रफनगर में ग्राम दुआरी एवं कारीमाटी, विकासखण्ड राजपुर के ग्राम करजी, शंकरगढ़ के ग्राम बचवार, कुसमी के ग्राम मदगुरी एवं सरनाडीह, बलरामपुर के ग्राम दलधोवा में 28 लाख 51 हजार रूपये की मान से कुल 01 करोड़ 99 लाख 57 हजार रूपये के लागत से 07 उप स्वास्थ्य केन्द्र भवनों का निर्माण, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी बलरामपुर के द्वारा विकासखण्ड वाड्रफनगर के ग्राम फुलीडुमर, ढढ़िया, डोंगरो, लमोरी, नवगई, पोखरा, पेण्डारी, लोधी, फुलवार एवं रामनगर में 9 लाख 77 हजार रूपये की मान से कुल 10 कार्यों के लिए 97 लाख 70 हजार रूपये के लागत से मिनी नलजल प्रदाय योजना का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने 88 करोड़ रूपये के 13 विभिन्न कार्यों का भूमिपूजन एवं शिलान्यास किया।

इसमें लोक निर्माण विभाग द्वारा 12 करोड़ 61 लाख 80 हजार रूपये की लागत से कपसारा से हाथीडांड़ रजखेता से धनवार मार्ग 48.20 किलोमीटर का नवीनीकरण, 03 करोड़ 69 लाख 16 हजार रूपये की लागत से रामानुजगंज के बंसतपुर लमोरी से मुरकौल मार्ग पुल-पुलियों सहित 03 किलोमीटर मार्ग का निर्माण, 39 लाख 95 हलार रूपये की लागत से एकलव्य आवासीय विद्यालय-नवोदय विद्यालय बलरामपुर का पहुंच मार्ग, 03 करोड़ 10 लाख 97 हजार रूपये की लागत से दिव्यांगों के लिए बलरामपुर में कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र सक्षम का निर्माण, 01 करोड़ 31 लाख 32 हजार रूपये की लागत से लाईवलीहुड कॉलेज में बालक छात्रावास का निर्माण, 02 करोड़ 36 लाख रूपये की लागत से बलरामपुर में शासकीय आई.टी.आई. भवन का निर्माण, लोक निर्माण विभाग सेतु संभाग द्वारा 05 करोड़ 65 लाख 95 हजार रूपये की लागत से रघुनाथनगर मार्ग पर मोरन नदी में पुल निर्माण, 10 करोड़ 86 लाख 11 हजार रूपये की लागत से कैलाशपुर से बरती मार्ग पर मोरन नदी में पुल निर्माण, जल संसाधन विभाग द्वारा 10 करोड़ 44 लाख 58 हजार रूपये की लागत से खुटपाली व्यापवर्तन योजना के तहत् माइनर नहर में मिट्टी का कार्य एवं पक्के संरचनाओं का निर्माण, 10 करोड़ 93 लाख 64 हजार रूपये की लागत से खापरनाला व्यपवर्तन योजना के तहत् मुख्य नहर के आरडी 0 मीटर से 5960 मीटर तक मिट्टी का कार्य एवं 53 नग संरचनाओं का निर्माण, 02 करोड़ 24 लाख 48 हजार रूपये की लागत से खापरनाला व्यापवर्तन योजना के बसेरा माईनर क्रमांक 01 आरडी 0 से 600 मीटर, कपिलदेव माइनर क्रमांक 02 आरडी 0 से 960 मीटर एवं माइनर क्रमांक 03 आरडी 0 से 1050 मीटर कार्य सहित 54 नग पक्के संरचनाओं का निर्माण, विद्युत विभाग द्वारा 02 करोड़ की लागत से वाड्रफनगर के ग्राम बंसतपुर में 33/11 के.व्ही. तथा 1 करोड़ 50 लाख रूपये की लागत से बलरामपुर के ग्राम पस्ता में 33/11 के.व्ही. सब स्टेशन स्वीकृत निर्माण कार्यों का ’शिलान्यास’ शामिल है।

इस अवसर पर प्रभारी मंत्री एवं श्रम मंत्री भैयालाल राजवाड़े,जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा नेताम,आयुक्त सरगुजा संभाग टामन सिंह सोनवानी,पुलिस महानिरीक्षक हिमांशु गुप्ता,कलेक्टर हीरालाल नायक,पुलिस अधीक्षक टी.आर.कोशिमा,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ.पंकज शुक्ला,जिलापंचायत सीईओ शिवअनन्त तायल, एसडीएम विजय दयाराम के,अनुराग सिंह देव,सिद्धनाथ पैकरा,शिवनाथ यादव आर के पटेल,ओमप्रकाश जयसवाल,कन्हैया लाल अग्रवाल,लल्लन यादव,जगदीश सोनी,तिलासाए,उदेशवरी पैकरा,उषा गुप्ता,राधिका एक्का,इंद्रिय आयाम सहितक जिले के निर्वाचित एवं मनोनीत जनप्रतिनिधियों सहित भारी संख्या में जिले भर के गणमान्य नागरिक सहित आम जनता उपस्थित हुए थे।

Back to top button