48 प्रोफेसरों को जेएनयू ने जारी किया कारण बताओ नोटिस

नई दिल्ली: जेएनयू के कुलपति ने गुरुवार को 48 प्रोफेसरों को एक दिन (31 जुलाई) की हड़ताल में कथित तौर रूप से शामिल होने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया.

जेएनयू की प्रोफेसर आएशा किदवई ने दावा किया कि विश्वविद्यालय के कार्यकारिणी परिषद की गुरुवार को आयोजित बैठक में यह निर्णय लिया गया.

किदवई ने बताया, ‘‘जारी किये गये नोटिस में शांतिपूर्ण हड़ताल की कार्रवाई को विश्वविद्यालय के कानूनों, नियमों का उल्लंघन बताया गया है. हम इस तरह के तरीके से बेहद परेशान हैं जिसमें विरोध के लोकतांत्रिक कृत्य को अनुशासनहीनता और गैरकानूनी कार्य के रूप में माना जा रहा है.’’

Back to top button