राज्य

सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में यूपी में 498 लोग चिन्हित

अब सरकार इन 498 लोगों की संपत्ति ज़ब्त करने की तैयारी में

लखनऊ: लखनऊ में 19 दिसंबर को हुई हिंसा की घटना के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रदर्शन के दौरान सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों को चिन्हित करके उन्हीं से वसूली करने का निर्देश दिया गया था.

अब सरकार इन 498 लोगों की संपत्ति ज़ब्त करने की तैयारी में है. दरअसल यूपी की योगी सरकार ने प्रदेश में 498 लोगों को सार्वजनिक संपत्ति को नुक़सान पहुंचाने के मामले में चिन्हित किया है.

इससे पहले गुरुवार तक पूरे राज्‍य में अभी तक सार्वजनिक और निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले आरोपियों को चिन्हित कर 373 लोगों को नोटिस भेजा जा चुका था. नोटिस में ज्यादातर उन लोगों के नाम शामिल हैं, जिनकी पहचान विरोध-प्रदर्शन और गिरफ्तारी के दौरान लिए गए वीडियो या तस्वीरों के स्कैन के जरिए की गई है.

रामपुर, संभल समेत मुरादाबाद मंडल में 200, लखनऊ में 110, फिरोजाबाद में 29, गोरखपुर में 34, रामपुर में 28 उपद्रवियों को संपत्ति वसूली का नोटिस भेजा जा चुका है. बिजनौर में 20 दिसंबर को हुए हिंसक प्रदर्शन के दौरान हुए नुकसान का आकलन करने के बाद जिला प्रशासन ने 43 लोगों को वसूली नोटिस भेजा.

अभी तक यूपी में लगभग 1.9 करोड़ रुपए के नुकसान की भरपाई करने के लिए नोटिस जारी किया जा चुका है, जिसमें बुलंदशहर में 6 लाख की वसूली के लिए नोटिस जारी हुआ है. संभल में 15 लाख की वसूली के लिए नोटिस, जबकि रामपुर जिले में 25 लाख रुपये के नुकसान का नोटिस जारी हो चुका है.

Tags
Back to top button