आईएस प्रमुख समेत 5 आतंकी हुए ढेड़

सुरक्षाबलों के अधिकारियों ने पहली बार राज्य में आईएस की उपस्थिति की पुष्टि की

जम्मू एवं कश्मीर : कश्मीर घाटी में शुक्रवार को हिंसा की अलग-अलग वारदातों में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के प्रमुख व उसके तीन सहयोगी मारे गए और 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

सुरक्षाबलों के अधिकारियों ने पहली बार राज्य में आईएस की उपस्थिति की पुष्टि की। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एस.पी.वैद ने पुष्टि करते हुए कहा कि अनंतनाग में गोलीबारी में मारे गए चार आतंकवादियों का संबंध आतंकवादी संगठन आईएस से था।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, “मारे गए आतंकवादी कथित रूप से इस्लामिक स्टेट जम्मू एवं कश्मीर (आईएसजेके) से जुड़े हुए थे।” इस्लामिक स्टेट ने 2017 में अपनी वेबसाइट पर कहा था कि इसकी भारतीय शाखा अंसार गजवातुल हिंद का नेतृत्व कश्मीरी आतंकवादियों का कमांडर जाकिर मूसा कर रहा है।

बहुप्रतीक्षित सालाना अमरनाथ यात्रा शुरू होने में महज कुछ दिन रह गए हैं। आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने पर सुरक्षा बलों ने खीरम गांव के एक घर में कार्रवाई शुरू की।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “जैसे ही क्षेत्र का घेराव किया गया, घर में छिपे आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी।”

मारे गए आतंकवादियों की पहचान एचएमटी श्रीनगर के रहने वाले आईएसजेके प्रमुख दाऊद सलाफी उर्फ बुरहान, पुलवामा जिले के तलंगम गांव के रहने वाले मजीद मंजूर, आदिल हसन मीर और अशरफ ईटू (दोनों अनंतनाग के श्रीगुफवाड़ा के रहने वाले) के रूप में हुई है।

पुलिस ने कहा कि इस मुठभेड़ में जम्मू एवं कश्मीर विशेष अभियान समूह(एसओजी) का एक सदस्य भी शहीद हो गया, जबकि तीन अन्य सुरक्षाकर्मी घायल हो गए।

Back to top button