मुस्लिम परिवार की 51 गायें को गौरक्षकों ने छीनीं

राजस्थान के अलवर जिले में कुछ हिंदू कार्यकर्ताओं की शिकायत पर पुलिस ने एक मुस्लिम परिवार की गायों को छीनकर एक गांव की गौशाला को सौंप दिया. पिछले दस दिनों से यह परिवार अपनी गायें वापस पाने के लिए भागदौड़ कर रहा है.

खबर के मुताबिक ये मामला जिले के किशनगढ़ बास थाना क्षेत्र के साहूबास का है, जिसमें सुब्बा मेव के बेटे नसरू खां और उनकी पत्नी गाय का पालन करते हैं. जबरदस्ती गौशाला पहुंचाई गई गायों में से एक भागकर वापस आ गई.

सुब्बा मेव के पास 52 गायें और बछड़े-बछियां हैं
सुब्बा मेव के पास कुल 52 गायें और बछड़े-बछियां मौजूद हैं और वे कई सालों से गौपालन करता है और दूध का व्यवसाय करता है. रोजाना करीब 100 किलो से अधिक गाय का दूध बेचता है और गायों को पहाड़ों में चराने ले जाता है. इसके बाद घर लेकर आ जाता है. फिलहाल परिवार के लोग गायों की गैर मौजूदगी में बछड़ों को बोतल से दूध पिला रहे हैं.

किशनगढ़ के एसएचओ ने कहा कि गांव के लोगों ने ही गायों को गौशाला में छोड़ा था और अब उन्होंने ही एसडीएम को पत्र लिखकर कहा है कि खान गायों की हत्या के काम में शामिल नहीं है बल्कि वह तो दूध बेचता है.

Back to top button