खेल

भारत को इस साल पीवी सिंधु के रूप में मिली विश्व चैंपियन

नई दिल्ली: भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने इस साल वर्ल्ड चैम्पियनशिप में स्वर्ण जरूर जीता, लेकिन बाकी पूरे साल खराब प्रदर्शन से जूझती रही जबकि युवा लक्ष्य सेन भारतीय बैडमिंटन के लिए मिली-जुली सफलता वाले वर्ष 2019 में भविष्य की उम्मीद बनकर उभरे.

दो रजत और दो कांस्य पदक के बाद सिंधु ने भारत को वर्ल्ड चैम्पियनशिप में पहला स्वर्ण दिलाया. इसके बाद हालांकि वह इस फॉर्म को दोहरा नहीं सकी. फिर भी भारत को इस साल पीवी सिंधु के रूप में विश्व चैंपियन मिली.

सिंधु बैडमिंटन का विश्व खिताब जीतने वाली पहली भारतीय बनीं. इसी साल बी साई प्रणीत ने विश्व चैंपियनशिप में ही ब्रॉन्ज मेडल भी जीता. लेकिन इन दो उपलब्धियों को छोड़ दें तो भारतीय बैडमिंटन के लिए यह साल अच्छा नहीं रहा.

साइना नेहवाल, किदांबी श्रीकांत और पारुपल्ली कश्यप जैसे खिलाड़ी कोई बड़ा खिताब नहीं जीत सके. साइना नेहवाल आधुनिक भारतीय बैडमिंटन की पहली महिला सुपरस्टार हैं. हालांकि, अब उनका खेल अवसान पर है. पिछले कुछ समय से उनकी फॉर्म और फिटनेस जवाब दे रहा है.

फॉर्म और फिटनेस को फिर से हासिल करने के लिए साइना नेहवाल ने ब्रेक लिया है. हालांकि, उन्होंने साफ कर दिया है कि अगले साल होने वाले ओलंपिक में हिस्सा लेंगी. ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीत चुकीं साइना नेहवाल विश्व चैंपियनशिप में सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल जीत चुकी हैं.

Tags
Back to top button