छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना अंतर्गत 57 जोड़ों की कराई गई शादी

ब्यूरो चीफ:- विपुल मिश्रा , Reporter:-shiv Kumar

बलरामपुर: मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के अंतर्गत 18 वर्ष से अधिक आयु की अधिकतम दो कन्याओं के विवाह में सहयोग प्रदान किया जाता है। महिला एवं बाल विकास द्वारा समय-समय पर इस योजनांतर्गत पात्र इच्छुक युवक-युवतियों का सामूहिक विवाह आयोजित कर हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाता है।

मुख्यमंत्री कन्या विवाह सहायता योजना का उद्देश्य परिवारों को कन्या विवाह के संदर्भ में होने वाली आर्थिक कठिनाईयों का निवारण, विवाह के अवसर पर होने वाले फिजूलखर्ची को रोकना है। विकासखंड बलरामपुर के ग्राम पचावल में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत् 57 जोड़ों का विवाह सम्पन्न कराया गया।

सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं रामानुजगंज विधायक श्री बृहस्पत सिंह विवाह समारोह में शामिल होकर इस पावन बेला के साक्षी बने तथा नवदम्पतियों को आषीर्वाद दिया। इस दौरान विधायक श्री सिंह ने अभिभावक की भूमिका में नव वर-वधु को उपहार सामग्री प्रदान की तथा उनके साथ बैठकर भोजन भी किया।

ज्ञात है कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह सहायता योजना के अंतर्गत नव दम्पत्तियों को 14000 रुपए की उपहार सामग्री, वर-वधु के लिए 5000 रुपये की श्रृंगार सामग्री, वधु को बैंक ड्राफ्ट के रूप में 1000 रुपए तथा सामूहिक विवाह आयोजन की तैयारी हेतु 5000 रुपए प्रति कन्या प्रदान जाता है।

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम अंतर्गत 57 जोड़ों के विवाह आयोजन में विधायक श्री बृहस्पत सिंह ने वर-वधु को आषीर्वाद प्रदान किया तथा आगामी दाम्पत्य जीवन के लिए शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना का उद्देष्य सादगीपूर्ण विवाहों को बढ़ावा देना, सामूहिक विवाहों के आयोजन के माध्यम से आत्मसम्मान में वृद्धि एवं उनकी सामाजिक स्थिति में सुधार, बाल-विवाह तथा विवाहों में दहेज के लेन-देन की रोकथाम करना है। साथ ही साथ सामाजिक कुरीतियों को रोकने में सामूहिक विवाह महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

विधायक श्री सिंह ने कहा आप सभी विवाह के पवित्र बंधन में बंध कर दाम्पत्य जीवन में प्रवेष कर रहे हैं इसलिए एक-दूसरे का सम्मान करते हुए परिवार के साथ गरिमापूर्ण जीवन व्यतीत करें।

उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा विवाह सामारोह का आयोजन सभी दम्पतियों की आस्था तथा स्थानीय वैवाहिक परम्पराओं को ध्यान में रखते हुए किया गया है, जो सराहनीय है। इस दौरान विधायक श्री बृहस्पत सिंह ने विवाह के कुछ महत्वपूर्ण रिवाजों के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि रीति-रिवाजों व परम्पराओं का सम्मान करें तथा रूढ़ि एवं कुरीतियों को दूर करने में अपनी भूमिका निभाएं।

इस अवसर जनपद पंचायत अध्यक्ष श्री विनय पैंकरा, उपाध्यक्ष श्री भानु प्रकाष दीक्षित, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री अजय किषोर लकड़ा, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री जे. आर. प्रधान, सहित विकासखण्ड स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी व आम नागरिक उपस्थित थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button