उत्तर प्रदेश के कानपुर में भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की दर्दनाक मौत

पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया

कानपुर:उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक भीषण सड़क हादसे में 6 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है. कई लोग घायल बताए जा रहे हैं. वहीं, इस घटना से आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई है.

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. साथ ही घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. कहा जा रहा है कि पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

जानकारी के मुताबिक, मामला कानपुर देहात की भोगनीपुर कोतवाली क्षेत्र का है. कहा जा रहा है कि क्षेत्र स्थित हाईवे पर एक तेज रफ्तार ट्रॉला अनियंत्रित होकर पलट गया. जिससे ट्रोला में सवार 22 लोग उसके नीचे दब गए. इस हादसे में 6 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई.

वहीं, अन्य 16 मजदूरों को कड़ी मशक्कत के बाद निकाला जा सका. इनमें से आठ मजदूरों को गंभीर चोटें आई हैं, जिनमें से एक की हालत नाजुक बनी हुई है. वहीं अन्य 8 को मामूली चोटें आई हैं, जिन्हें प्राथमिक उपचार देने के बाद उनके परिजनों के पास छोड़ दिया गया है.

ट्रोला में सवार महिला मजदूर श्यामा देवी ने बताया कि यह सभी मजदूर हमीरपुर जिले के रहने वाले हैं जो इटावा की ओर जा रहे थे. इन सभी को इटावा में कोयला छनाई का काम मिला था जिसके लिए यह सभी हमीरपुर से निकले थे.

महिला के अनुसार, ट्रॉला चालक तेज आवाज में गाने बजा रहा था और गाड़ी गलत ढंग से चला रहा था. इसके चलते ट्रॉला पलट गया. इस हादसे में मरने वालों में मासूम बच्चे भी शामिल हैं. वहीं, हादसा होते ही मौके पर चीख-पुकार मच गई.

आनन-फानन में हाईवे से गुजर रहे वाहनों ने अपने वाहन रोककर लोगों को निकालना शुरू किया. साथ ही मामले की सूचना भोगनीपुर कोतवाली पुलिस को दी. सूचना मिलते ही भोगनीपुर कोतवाल थाना फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और आला अधिकारियों को भी घटना की जानकारी दी. इस हादसे में घायलों को प्राथमिक उपचार के लिए पुखराया के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भेजा गया है, जहां से उन्हें कानपुर देहात के माती जिला अस्पताल में रेफर किया गया.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button