राष्ट्रीय

6 एनकाउंटर, 32 गिरफ्तारी: क्या विकास दुबे के साथ दफन हो गया असलहों का राज ?

पुलिस अब तक सिर्फ दो लाइसेंसी रायफल और पांच तमंचे बरामद कर सकी है।

कानपुर: कानपुर के बिकरू कांड में विकास दुबे के एनकाउंटर के साथ पुलिस पर गोलियों की बौछार करने वाले असलहों का राज भी लगता है दफन हो गया। 28 लाइसेंसी और कई अवैध असलहों के साथ दो सेमी ऑटोमेटिक रायफल का इस्तेमाल किया गया था। पुलिस अब तक सिर्फ दो लाइसेंसी रायफल और पांच तमंचे बरामद कर सकी है।

जांच में पता चला था कि बिकरू में पुलिस की दबिश के दौरान रायफल, सेमी ऑटोमेटिक, पिस्टल समेत अन्य हथियारों से हमला किया गया था। सीओ देवेंद्र मिश्र समेत आठ पुलिस कर्मी शहीद हो गए थे। इस मामले में अब तक 32 आरोपित जेल जा चुके हैं लेकिन पुलिस असलहों के जखीरे का पता नहीं लगा सकी। जेल भेजे गए सभी आरोपितों ने बताया कि विकास को असलहा मुहैया कराए थे और बाद में वापस भी ले लिए थे। पुलिस को उम्मीद है कि विकास के भाई दीपू की गिरफ्तारी के बाद शायद असलहों का जखीरा बरामद हो सके। कानपुर नगर और कानपुर देहात की पुलिस के साथ ही एसटीएफकी टीम ने संयुक्त प्रयास शुरू कर दिया है।

बृजेश श्रीवास्तव, एसपी ग्रामीण कहते हैं कि विकास और उसके गुर्गों के लाइसेंसी और अवैध शस्त्र बरामद करने के लिए एक बार फिर से टीमों को लगाया गया है। अभी तक पुलिस गिरफ्तारी में व्यस्त थी, लेकिन अब असलहा बरामदगी पर फोकस है।

कार में धीरू दुबे और बाल गोविंद के परिवार से हुई पूछताछ

पनकी पुलिस की टीम आरोपित धीरू दुबे की पत्नी मनीषा और बालगोविंद की पत्नी निशा और बेटी संगीता को गांव से उठाकर ले गई थी। उन लोगों ने बताया कि पुलिस उन्हें पहले पनकी थाने ले गई थी। इसके बाद चौबेपुर थाना लाया गया। सभी को कार में लाया गया था और चौबेपुर के बाहर उन्हें कार से उतरने की अनुमति नहीं दी।

चौबेपुर और पनकी पुलिस की टीम ने उन लोगों को कार में बैठाकर पूछताछ की। उनसे पूछा गया कि उनके घर का खर्च कैसे चलता है। दोनों के पति कुख्यात विकास दुबे के सम्पर्क में कैसे आए और विकास दुबे आर्थिक तौर पर दोनों की मदद कैसे करता था। इस तरह से उनसे कई सवाल पूछे गए, जिसके बाद रात लगभग आठ बजे उन लोगों को वापस बिकरू गांव ले जाकर छोड़ा गया।

वितुल दुबे की तलाश में पुलिस ने की छापेमारी

विकास के भांजे फरार वितुल दुबे की तलाश में पुलिस ने उसके ननिहाल बैरी गांव में छापेमारी की। टीमों ने उसके कुछ अन्य रिश्तेदारों के यहां पहुंचकर उनसे भी पूछताछ की है। वितुल की लोकेशन के बारे में भी फिलहाल पुलिस को कोई सटीक जानकारी नहीं मिल पा रही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button