छत्तीसगढ़राज्य

छत्तीसगढ़/ सरगुजा संभाग के 630 विद्यार्थी राजस्थान के कोटा से हुए रवाना

सरगुजा जिले के छात्र-छात्राओं के लिए बनाए गए तीन क्वारेंटिन सेन्टर

अम्बिकापुर : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रयासों से राजस्थान के कोचिंग हब से छत्तीसगढ़ के छात्र-छात्राओं को लेकर बसें 26 अप्रैल 2020 को कोटा से रवाना हो गई। संयुक्त कलेक्टर एवं नोडल अधिकारी प्रदीप कुमार साहू ने बताया कि सरगुजा संभाग अंतर्गत जिले सरगुजा, जशपुर, सूरजपुर, कोरिया एवं बलरामपुर-रामानुगंज के करीब 630 छात्र-छात्राएं एवं अभिभावक 24 बसों में सवार होकर निर्धारित समय पर कोटा से रवाना हुए।

सभी छात्र-छात्राओं का किया गया स्क्रीनिंग

छात्र कल देर रात अपने-अपने जिलों में पहुंचेंगे। कोटा से आने वाले छात्रों में सरगुजा जिले के 185 छात्र-छात्राएं एवं अभिभावक शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सभी छात्र-छात्राओं का स्क्रीनिंग मेडिकल स्टाफ के द्वारा करने के बाद ही उन्होंन बस में बठाया गया। जिले में पहुंचने पर सीधे घर न जाकर उन्हे 14 दिन तक क्वारेटिन सेन्टर में रहना होगा। सरगुजा जिले के छात्र-छात्राओं के लिए जिला मुख्यालय अम्बिकापुर में तीन क्वारेंटिन सेन्टर बनाए गए हैं।

कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर के निर्देशानुसार

कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर के निर्देशानुसार कोटा से आने वाले जिले के छात्र-छात्रों को 14 दिन तक क्वारेंटिन में रखने हेतु तीन क्वारेंटिन सेन्टर बनाए गए हैं। छात्राओं के लिए कन्या शिक्षा परिसर स्थित प्रीमैट्रिक छात्रावास तथा छात्रों के लिए गंगापुर स्थित प्रीमैट्रिक विशिष्ट कन्या छात्रावास तथा प्रीमैट्रिक अन्य पिछड़ा वर्ग कन्या छात्रावास को क्वारेंटिन सेन्टर बनाए गया है।

इन तीनों क्वारेंटिन सेन्टर में छात्र-छात्राओं के लिए आवश्यक व्यवस्था हेतु सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग को दायित्व सौंपा गया है। कलेक्टर डॉ. मित्तर ने क्वारेंटिन सेन्टर में रूकने वाले छात्र-छात्राओं को अतिथि के तौर पर देख-भाल करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर के निर्देश के परिपालन में सहायक आयुक्त आदिवासी विकास जे.आर. नागवंशी ने तीनों छात्रावास के अधीक्षकों को विश्राम, भोजन एवं अन्य व्यवस्था दुरूस्त करने जिम्मेदारी दी है। क्वारेंटिन में रहने वाले छात्र-छात्रों को मेडिकल टीम की विशेष निगरानी में रहना होगा।

 

छत्तीसगढ़ के पांचों संभागों के विद्यार्थियों के लिए बसों की रवानगी

उल्लेखनीय है कि कोटा जिला प्रशासन ने छत्तीसगढ़ के पांचों संभागों के विद्यार्थियों के लिए बसों की रवानगी का समय, रवानगी स्थल और बसों की संख्या तय कर जानकारी कल ही जिला प्रशासन को उपलब्ध करा दी थी। सरगुजा संभाग के विद्यार्थियों के लिए कोटा के कंट्री इन से सात बसें, सत्यार्थ से सात बसें और कुनहाड़ी से 10 बसें विद्यार्थियों को लेकर रवाना हुई।

कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर द्वारा राजस्थान के कोटा से जिले के विद्यार्थियों को लाने हेतु नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी संयुक्त कलेक्टर प्रदीप साहू को दी गई है। छात्रों को सरगुजा लाने नोडल अधिकारी साहू, नायब तहसीलदार अनिरूद्ध मिश्रा तथा पटवारी नीरज कोटा गए हैं।

Tags
Back to top button