7 से 7.5 फीसदी के बीच होगी GDP, बढ़ सकती है महंगाई

नई दिल्ली. बजट सत्र के पहले दिन राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद लोकसभा में वित्तमंत्री अरुण जोटली ने आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया है. जिसके अनुसार वित्तवर्ष 2018-19 के दौरान देश की विकास दर 7 पासदी से 7.5 फीसदी के बीच रहने की उम्मीद है.

इससे पहले बजट सत्र 2018-19 के पहले दिन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद संसद भवन पहुंचे, जहां वह दोनों सदनों के सांसदों को संबोधित किया. इसके साथ ही बजट सत्र की शुरुआत हुई. कोविंद ने अभिभाषण में कहा कि सरकार सभी वर्गों के लिए काम कर रही है. इस दौरान उन्होने उम्मीद जताई है कि तीन तलाक बिल इस सत्र में पास हो जाएगा.

अभिभाषण के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली देश का इकॉनोमिक सर्वे पेश करेंगे. सरकार ने इस बजट में किसानों, ग्रामीण भारत, महिलाओं और बुजुर्गों को ध्यान में रखते हुए नीतियां बनाई हैं.

बता दें कि जीएसटी लागू होने के बाद यह केंद्र सरकार का पहला बजट है. वहीं 2019 लोकसभा चुनाव के पहले मोदी सरकार का यह आखिरी पूर्ण बजट है इसलिए भी इस बजट को बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है. केंद्र सरकार बजट को 1 फरवरी को पेश करेगी और इस पूरे बजट सत्र का पहला भाग 29 जनवरी से 9 फरवरी तक चलेगा.

वहीं इसका दूसरा हिस्सा 5 मार्च से 6 अप्रैल तक चलेगा. राष्ट्रपति का अभिभाषण केंद्र सरकार का दस्तावेज होता है जिसमें सरकार की पिछले साल की उपलब्धियां और आगामी वर्ष के लिए नीति, एजेंडा और योजनाएं होती हैं.

1
Back to top button