बच्चों की गैरकानूनी तौर पर खरीद और बिक्री, डॉ. राजू समेत 7 आरोपी गिरफ्तार

13 बच्चों को वापस खोज निकाला

छोटा उदेपुर :

मध्य प्रदेश के अलीराजपुर में बच्चों की गैरकानूनी तौर पर खरीद और बिक्री का सनसनीखेज मामला सामने आया था. मध्यप्रदेश पुलिस ने जाल बिछाकर अलीराजपुर के अग्रणी शैलेन्द्र उर्फ शैलू राठौड़ को रंगे हाथों पकड़ा. वह 1.40 लाख रुपये में बच्चा बेचने जा रहा था. शैलू राठौड़ 5 लाख रुपये में बच्चे बेचने का काम करता था.

पुलिस की जांच में पूरे रैकेट का गुजरात कनेक्शन भी सामने आया. जिसके बाद मध्यप्रदेश बॉर्डर के पास स्थित गुजरात के छोटाउदेपुर जिले के कुछ बड़े नाम भी सामने आए. जिसमें छोटा उदेपुर के पूर्व नगर पालिका के प्रमुख और भाजपा के बड़े नेता राजू अग्रवाल को पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किया गया.

इसके बाद केसर हॉस्पिटल नाम से छोटा उदेपुर में दो और मध्य प्रदेश में दो मिलाकर कुल 4 निजी मल्टीस्पेशलिस्ट हॉस्पिटल के डॉ. राजू का भी बाल तस्करी में नाम आने पर मध्यप्रदेश पुलिस ने डॉ. राजू और हॉस्पिटल के मैनेजर परेश को गिरफ्तार किया है.

डॉ. राजू द्वारा उसके हॉस्पिटल में ही जन्मे बच्चे को तस्करी के मास्टर माइन्ड शैलू राठौड़ को 50 हजार रुपयों में सौदा करने की बात सामने आई है.

जानकारी के मुताबिक नवजात के माता-पिता ने किसी कारणों की वजह से बच्चे को साथ ले जाने के लिए इनकार कर दिया जिसके बाद डॉ राजू ने उनसे दवा के खर्च के तौर पर 17 हजार रुपये लिया और शिशु को कुछ दिन अस्पताल में रखकर शैलू राठौड़ को 50 हजार रुपयों में बेच दिया था.

मध्य प्रदेश पुलिस ने डॉ. राजू समेत 27 आरोपियों को पकड़ा है और इस बाल तस्करी का शिकार बने 13 बच्चों को वापस खोज निकाला है. इस पूरे मामले में गुजरात के छोटा उदेपुर के डॉ. राजू समेत सात आरोपी को मध्यप्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

आपको बता दें कि पिछले दस दिनों से गुजरात के मीडिया में रिपोर्ट के कारण गुजरात सरकार हरकत में आई है. बताया जा रहा है कि राज्य के बाल संरक्षण आयोग द्वारा पूरे मामले की कार्रवाई की रिपोर्ट भी मंगवाई है. वहीं दूसरी ओर पूरे मामले में छोटाउदेपुर पुलिस का कहना है कि उन्हें स्थानीय लेवल पर कोई शिकायत नहीं मिली है.

1
Back to top button