बब्बर खालसा के 7 सदस्य लुधियाना से गिरफ्तार, तीन पिस्तौलें और गोला बारूद बरामद

चंडीगढ़: पंजाब पुलिस ने बब्बर खालसा के एक मॉड्यूल का भांडाफोड़ करते हुए सिख आंतकी समूह के सात सदस्यों को लुधियाना से गिरफ्तार किया है. लुधियाना के पुलिस आयुक्त आर. एन. ढोके ने संवाददातों को बताया कि पुलिस ने गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से तीन पिस्तौलें और कुछ गोला-बारूद बरामद किए हैं. उन्होंने कहा कि इस समूह ने खालिस्तानी विचारधारा और कट्टरपंथी सिख संगठनों का विरोध करने या लिखने वालों को अपना निशाना बनाने की योजना बनाई थी.

ढोके ने कहा कि गिरफ्तार आरोपियों के तार कथित तौर पर सुरिंदर सिंह बब्बर से जुड़े हो सकते हैं, जो ब्रिटेन के लंदन में रहता है और गिरफ्तार आरोपियों को बब्बर से ही धन मिलता था. अधिकारियों ने कहा है कि बब्बर इस समूह के सदस्यों को हथियार और धन मुहैया कराता था.

उच्चतम न्यायालय भी एक याचिका पर सुनवाई कर रहा है जिसमें अनुच्छेद 35 ए को खत्म करने की मांग की गई है जो राज्य विधानसभा को ‘स्थायी निवासी’ को परिभाषित करने की अनुमति देता है. हिंदुवादी संगठनों ने इसे भेदभावपूर्ण बताया है. पीडीपी और नेशनल कांफ्रेंस जैसी कश्मीर की पार्टियां संविधान में राज्य को मिले विशेष दर्जे में किसी भी तरह के बदलाव के खिलाफ हैं. संघ प्रमुख ने कहा कि विकास के लाभ को पूरे जम्मू-कश्मीर के लोगों तक बिना किसी भेदभाव के पहुंचाने की आवश्यकता है जिसमें जम्मू और लद्दाख क्षेत्र भी शामिल हैं.

Back to top button