छत्तीसगढ़राज्य

7 भाजपा नेताओं युवतियों से की मारपीट, अब हुआ एफआईआर

सूरजपुर की प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी आस्था यादव ने युवतियों से बदसलूकी, मारपीट और शासकीय कार्य में बाधा समेत कई अन्य गंभीर अपराधों के मामले में भाजपा के नेताओं समेत 7 के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है.

छत्तीसगढ़ के सरगुजा के भाजपा नेताओं की दबंगाई के चलते सूरजपुर कोतवाली में मामला दर्ज नही किया गया था. जिसके बाद दायर परिवाद पर सुनवाई करते हुए न्यायालय में अपराध पंजीबद्द कर आरोपियों को 29 अगस्त 2017 तक न्यायालय में उपस्थित होने के लिए समन भी जारी कर दिया है.

यह था मामला

सूरजपुर जिला मुख्यालय मानपुर के सामुदायिक भवन में 23 दिसंबर 2015 को सोशल आॅडिट प्रभारी प्रियंका पाण्डेय अन्य 70 आॅडिट कर्मचारियों के साथ सोशल आॅडिट का काम कर रही थी.

तभी सूरजपुर भाजपा मंडल अध्यक्ष मुकेश गर्ग, नगर पालिक अध्यक्ष शलेश्वर साहू, उपाध्यक्ष अजय अग्रवाल, पार्षद राजेश साहू समेत अन्य पार्षद और एक अधिवक्ता उस भवन में पहुंचे.

इन लोगों ने पहले तो सोशल आॅडिट का कार्य कर रही महिला कर्मचारियों से बदसलूकी करते हुए उनका हाथ पकड़ कर उन्हें बाहर निकाल दिया, फिर उनके साथ हाथापाई और गाली-गलौज कर आॅडिट के काम में बाधा डाली.

मनरेगा की सोशल आॅडिट में लगी युवतियों, महिलाओं और पुरुषों के साथ हुए गंभीर अपराध में सूरजपुर कोतवाली में 23 दिसंबर 2015 को तो मामला दर्ज नही हुआ था.

लेकिन सोशल आॅडिट प्रभारी प्रियंका पाण्डेय के परिवाद पर सूरजपुर न्यायालय ने भाजपा मंडल अध्यक्ष मुकेश गर्ग समेत 7 के खिलाफ सात गंभीर धाराओं के साथ आईपीसी की तीन गैरजमानती धाराओं के तहत मामला पंजीबद्द कर लिया है.

गौरतलब है कि इस मामले में पीड़ित की शिकायत दर्ज नहीं करने वाले सूरजपुर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मानक राम कश्यप के खिलाफ भी चार महीने पहले मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अनिक कुमार बारा ने गंभीर घटना का अपराध ना दर्ज करने का मामला दर्ज किया था.

Tags
Back to top button