राज्य कर्मचारी बीमा निगम में 7 करोड़ का दवा घोटाला, ईओडब्ल्यू में एफआईआर

दवा खरीदी में करोड़ों रुपए के घोटले का एक और मामला अब राज्य कर्मचारी बीमा निगम में सामने आया, कंपनियों से खरीदी दिखाकर दुकानदारों को कर दिया भुगतान

रायपुर: दवा खरीदी में करोड़ों रुपए के घोटले का एक और मामला अब राज्य कर्मचारी बीमा निगम में सामने आया है। शुरुआती जांच के बाद आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो ने मामले में प्राथमिकी दर्ज की है।

23 आपूर्तिकर्ता कंपनियों को पूछताछ के लिए नोटिस जारी

आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो ने 23 आपूर्तिकर्ता कंपनियों को नोटिस देकर पूछताछ के लिए बुलाया गया है। उनसे आपूर्ति की गई दवाइयों और सर्जिकल उपकरणों के संबंध में जानकारी मांगी गई है। साथ ही विभाग को नोटिस जारी कर खरीदी प्रक्रिया से जुड़े सभी दस्तावेज उपलब्ध कराने को कहा गया है।

8 महीने पहले मिली थी शिकायत

ईओडब्ल्यू के सूत्रों ने बताया कि करीब 8 महीने पहले दवाइयों की खरीदी में लेनदेन की शिकायत मिली थी। रायपुर, भिलाई, बिलासपुर , रायगढ़ कोरबा और दुर्ग के निजी दवा आपूर्तिकर्ताओं के माध्यम से यह खरीदी की गई थी। बताया जा रहा है कि दवा कंपनियों से खरीदी दिखा कर दुकानदारों को भुगतान किया गया है।

रिकार्ड जांच के बाद कार्रवाई

ईओडब्लू एवं एसीबी एडीजी मुकेश गुप्ता ने कहा कि एसआईसी में हुए दवाइयों और सर्जिकल उपकरणों की खरीदी में धांधली की शिकायत मिली थी। इसकी जांच के बाद प्राथमिकी दर्ज कर रिकॉर्ड की जांच की जा रही है।

Back to top button