छत्तीसगढ़बड़ी खबरराज्य

NSS के द्वारा 7 दिवसीय विशेष शिविर का आयोजन

सरायपाली में संचालित राष्ट्रीय सेवा योजना की सामान्य ईकाई द्वारा सात दिवसीय विशेष शिविर का आयोजन ग्राम- बोईरमाल की पावन धरा में दिनांक 26 दिसंबर 2019 से 01 जनवरी 2020 तक

सराईपाली ; शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय पैकिन,विकासखंड- सरायपाली में संचालित राष्ट्रीय सेवा योजना की सामान्य ईकाई द्वारा सात दिवसीय विशेष शिविर का आयोजन ग्राम- बोईरमाल की पावन धरा में दिनांक 26 दिसंबर 2019 से 01 जनवरी 2020 तक प्राचार्य सह संरक्षक प्रभात कुमार भोई जी के कुशल मार्गदर्शन में थीम – नरवा,गरुवा, घुरवा,बारी के तहत ग्रामीण विकास को रेखांकित करते हुए किया गया है|

रा.से.यो. कार्यक्रम अधिकारी/सहायक का दायित्व दयानंद चौधरी जी तथा युधिष्ठिर भोई जी द्वारा निर्वहन किया जा रहा है| वहीं गतिविधियों के सफल संचालन हेतु सुनील साहू एवं कु.यशोदा सोनी को क्रमश: दलनायक /दलनायिका की जिम्मेदारी दी गई है|दिनांक27-12-2019(शुक्रवार)को प्रथम बौद्धिक परिचर्चा सत्र अंतर्गत ‘शिक्षा ही समग्र विकास का आधार’ और ‘प्लास्टिक प्रदुषण एवं चुनौती’ विषय पर स्वयंसेवकों को विशिष्ट जानकारी देकर प्रेरित/उद्वेलित करने के उद्देश्य से क्रमश: प्रवक्ता के रूप में मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण पुरस्कार “ज्ञानदीप” से सम्मानित,नवाचारी शिक्षक यशवंत कुमार चौधरी, शास.उच्च प्राथमिक शाला लांती एवं पूर्व जिला सचिव,भारत स्काउट्स एवं गाइड्स जिला संघ महासमुंद शैलेन्द्र कुमार नायक,व्याख्याता, शा.उ.मा.वि.केना को आमंत्रित किया गया |

बौद्धिक सत्र के मुख्य अतिथि मनीराम पटेल एवं अध्यक्षता चित्रसेन कर्री(NSS स्वयं सेवक) ने किया तथा सनद राम कुजूर,लक्ष्मी चंद, वेद प्रकाश नायक,गोविन्द एवं कार्यक्रम अधिकारी डी.एन. चौधरी उपस्थित रहे.

आमंत्रित प्रवक्ता यशवंत कुमार चौधरी ने “शिक्षा ही समग्र विकास का आधार” विषय पर अपनी बात रखाते हुए बताया कि कौशल अर्जित करने एवं उसके संवर्धन में शिक्षा का अहम् योगदान होता है |स्कील्ड पर्सन का आदर- सम्मान सदैव होता है |

व्यक्ति को दक्ष होने के लिए जूनून के साथ एकाग्रता- बुद्धिमत्ता की आवश्यकता होती है और व्यक्ति के विकास में शिक्षा आधार का कार्य करता है जिसका नींव जितना मजबूत होगा उतना ही अच्छा बिल्डिंग बनेगा चाहे वह कैपिसिटी बिल्डिंग की बात हो या फिर आध्यात्मिक- चारित्रिक- नैतिक -सामाजिक उत्थान की बात हो |

NSS के द्वारा 7 दिवसीय विशेष शिविर का आयोजन

सीखना एक सतत प्रक्रिया है और सीखने के लिए ज्ञान की जरूरत पग-पग पर पड़ता है | सीखने में आखिर क्या सीखना ? कौशल(skill)- लिखने का,पढ़ने का ,उत्पादकाता का, रचनाशीलता का,कलात्मकता का,नजरिये का  या फिर यू कहें समग्र विकास का | दिलचस्पी के साथ शौक से काम कीजिए, आपकी रुचि शिक्षा के साथ समन्वय करके आपको/ आपके जीवन को एक दिन कहीं आगे ले जाएगा/भविष्य उज्जवल कर जाएगा  |

बस जरुरत है तो इस बात कि,कि आपका कदम, यह पहल,यह लगन लक्ष्य प्राप्ति के पूर्व डगमगाए नहीं इसकी दिशा – दशा प्रभावशाली ,सकारात्मक और सही हो | शिक्षा के महत्व –उद्देश्य- लाभ को बतलाते हुए इसकी जरूरत पर बल दिया गया |जीवन के हर पहलू में ताना- बाना की तरह शिक्षा समाया हुआ है, इसे जानने- समझने की जरुरत है ,अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखिए, स्वस्थ रहिए,सृजनशील बनिए,मेहनती –स्वावलंबी बनिए ,स्वाभाविक रूप से सहज-सरल बनिए |

व्यक्ति का ड्रेस उसके व्यक्तित्व को एड्रेस करता है इसलिए पहनावे पर भी ध्यान दीजिए | वेस्ट चीजों में बेस्ट देखने का प्रयास कीजिए शिक्षा प्राप्त कर शिक्षित बनिए जब आप शिक्षित हुनरमंद बनेंगे तब आपकी काबिलियत से आपका जीवन रोशन होगा यही समग्र विकास का आधार बनेगा |

शिक्षा से आपमें लीड करने की आदत बढ़ेगी और तब जाकर आपमें जिज्ञासुपन की प्रवृत्ति का विकास होगा और आप लगातार शिक्षा के माध्यम से सीखते- सिखाते आगे दूर तक चले जायेंगे समाज को एक नया सन्देश देंगे जीवन की गुमनामी के बादल छंट जाएंगे /हट जाएंगे | शिक्षा ही नम्रता –सादगी- मौन की बलवती शक्ति देती है इसलिए keep an open your mind always (अपने दिमाग को सदैव खुला रखें) ,Do your Duty And Gain your Rights   अपने कर्तव्य को पूरा करते हुए  अपने अधिकारों को प्राप्त कीजिए,

हमेशा win- win-win(जीत- जीत- जीत सोचें),be proactive बनें,लक्ष्य बनाकर  Achieve  करना सीखें,अपनी confidence level बढ़ाएं,कभी भी Oppertunity को अपने हाथ से जाने न दें ,दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ अपने Practice पर ध्यान फोकस कीजिए सदैव निष्ठा-ईमानदारी-वफादारी के साथ काम करते हुए खुश रहने का प्रयास कीजिए |जिम्मेदारी, सहानुभूति,न्यायप्रियता के गुणों को आत्मसात कीजिए आपका जीवन निखर जाएगा कष्ट सब बिखर जाएगा |

शिक्षा नवीन विचारों को जन्मा देती है, जैसे- जैसे आपके Thought( विचार ) होंगे वैसे ही आपके कार्य (Action)होगा और जैसे-जैसे कार्य की बारंबारता होगी वैसे वैसे आदत (Habit)बनने लगेगा, यही आदत आपके चरित्र (Character)निर्माण करने का काम करेगा और अततः यही आपका प्रारब्ध( Destinity) बन जाएगा अतः जीवन में समग्र विकास के लिए शिक्षा ग्रहण करने प्रेरित कर शिक्षित- सुसंस्कृत बनने आह्वान किया |

कार्यक्रम का संचालन स्वयं सेवक गौरव पटेल द्वारा बेहतरीन तरीके से किया |स्वयं सेवक जितेंद्र छत्तर ने नौजवान आओ रे… गीत से नौजवानों को प्रेरित किया वहीं

मोजेश सिंग ने ये तो सच है की भगवान है… गीत गाया |  अजय दीप ने गाकर एक भारत श्रेष्ठ भारत की भावना को बढ़ावा दिया |प्रवक्ता श्री शैलेन्द्र नायक ने वक्तव्य में प्लास्टिक क्या है?कैसे बनता है? इसके प्रदूषण से होने वाले प्रभाव एवं बचाव के तरीके बताया गया U.N.O.के प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट के 2016 के एक्सटेंडेड प्रोड्यूसर रिस्पॉन्सिबिलिटी नियम की जानकारी दी गई एवं माहौल बनाने ‘दूर पहाड़ी पर एक पेड़’… गीत गाया गया |

पर्यावरण प्रदुषण के बारे में बताते हुए 3R के बारे में बताया गया reuse, recycle, reduce करने की बात कही. साथ ही संग्राम जिंदगी है.. गीत गाया गया एवं ओरिगेमी पद्धति से पुराने अनुपयोगी कागज़ से कलात्मक थैला एवं उपयोगी सामग्री बनाने की विधि सीखाया गया .

Tags
Back to top button