राष्ट्रीय

मुंबई में 70 संक्रमित मरीज लापता, बीएमसी ने मांगी पुलिस की मदद

मुंबई पुलिस ने बीएमसी की सिफारिश पर जांच को आगे बढ़ा दिया

मुंबई: मुंबई शहर से अचानक 70 कोविड-19 मरीजों के गायब होने से स्वस्थ अमला के साथ सियासी हलचल भी तेज हो चुकी है। अब विपक्ष और भी ज्यादा हमलावर हो चुका है। इसके पहले भी विपक्ष लगातार सरकार को करोना मरीजों के साथ हो रहे बुरे बर्ताव को लेकर के आवाज उठाता रहा है। ऐसे में इस घटना ने विपक्ष को एक और मौका दे दिया है।

फिलहाल मुंबई पुलिस ने बीएमसी की सिफारिश पर जांच को आगे बढ़ा दिया है और इन सभी 70 लोगों की सीडीआर यानी की कॉल डेटा रेकॉर्ड को चेक किया जा रहा है। मोबाइल फोन की आखिरी लोकेशन को ट्रेस करने की कोशिश की जा रही है और परिवार वालों से भी पुलिस इस मामले में पूछताछ करेगी। इसके साथ ही साथ अगर यह अस्पताल में भर्ती थे या फिर क्वारंटीन सेंटर में थे, तो उन तमाम लोगों से लिए मुंबई पुलिस पूछताछ करेगी।

देश की सबसे अमीर महानगरपालिका यानी बीएमसी के लिए यह घटना एक शर्मिंदगी का सबब बन चुकी है। इसके पहले भी बीएमसी के अस्पतालों से कोरोना मरीजों की लाशों के गायब होने की खबरें आम हो चुकी थी।

अब ऐसे में खुद बीएमसी ने खुद कहा है कि 70 कोरोना मरीज लापता हैं, यह अपने आप में कई सवालिया निशान पैदा करती है। फिलहाल बीएमसी चाहती है कि मुंबई पुलिस उनकी मदद करे और इस मामले का जल्द से जल्द कोई हल निकले।

पी-नॉर्थ वार्ड से गायब ज्यादातर मरीज

फिलहाल इन मरीजों की तलाश मुंबई पुलिस बड़ी ही सरगर्मी के साथ कर रही है। यह सभी के सभी मरीज मुंबई महानगरपालिका के पी नॉर्थ वार्ड यानी कि मलाड इलाके से आते हैं। यह सभी के सभी गुजरे 3 महीने से गायब हैं, जिनकी जानकारी ना तो इनके परिवार वालों को है और ना ही बीएमसी के पास इनकी कोई जानकारी है। बीएमसी जब इनकी टेस्ट रिपोर्ट देने गई तो कुछ लोगों के घर पर ताला बंद था या फिर कुछ लोगों का अड्रेस गलत था। कुछ लोगों ने अपना फोन बंद रखा हुआ था।

दूसरों के लिए खतरा बनेंगे ये मरीज

यह मरीज जो बीते 3 महीनों से लापता हैं, यह खतरा बन चुके हैं। इनकी वजह से कई और भी लोग कोरोना के शिकार हो सकते हैं, जो जाने-अनजाने में इनके करीब आते होंगे। ऐसे लोगों को ढूंढना बीएमसी और पुलिस प्रशासन की प्राथमिकता है ताकि अन्य लोगों को इस महामारी की जद से बचाया जा सके। मुंबई पुलिस के प्रवक्ता प्रणय अशोक ने बताया कि हम सभी मरीजों की जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं और जल्द ही उनको ढूंढने का काम भी पूरा किया जाएगा।

Tags
Back to top button