80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन की जरूरत, विकास का एक और दर्दनाक उदाहरण: राहुल गाँधी

काग्रेंस पार्टी ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोला

नई दिल्ली:एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए काग्रेंस पार्टी के नेता राहुल गांधी ने कहा कि देश की कुल 135 करोड़ जनता में से 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन की जरूरत पड़ रही है जो मोदी सरकार में विकास का एक और दर्दनाक उदाहरण है।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ”135 करोड़ की आबादी में से 80 करोड़ लोगों को ‘गरीब कल्याण’ के तहत मुफ्त राशन की जरूरत है। मोदी सरकार के ‘विकास’ का एक और दर्दनाक उदाहरण।” कांग्रेस नेता ने एक अन्य ट्वीट में सरकार पर पेट्रोल और डीजल पर लगाये गये उच्च कर को लेकर भी निशाना साधा।

उन्होंने एक खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ”कर वसूली में पीएचडी।” खबर में दावा किया गया है कि सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर कर से जो धन अर्जित किया है, वह आयकर और कॉर्पोरेट कर से अधिक है।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ” सत्ता के नशे में चूर नरेंद्र मोदी सरकार लोगों के प्रति अपनी जिम्मेदारी एवं संतुलन की भावना को पूरी तरह भूल चुकी है। मोदी सरकार ने उच्चतम न्यायालय को शपथ पत्र देकर कहा है कि केंद्र के पास कोरोना महामारी से मरने वाले व्यक्तियों के परिजनों को चार लाख रुपये का मुआवजा देने के लिये पैसा नहीं है।”

उन्होंने आरोप लगाया, ” क्या मोदी सरकार जरा भी दर्द और परशानियों को महसूस कर सकती है? कोरोना पीड़ितों को मुआवज़ा देने को पैसा नहीं है, पर कोरोना के दौरान सेंट्रल विस्टा और प्रधानमंत्री के लिए एक भव्य महल बनवाने के लिए ₹20,000 करोड़ रुपये हैं। पेट्रोल-डीज़ल की लूट से साल 2020-21 में इकट्ठा किये गए ₹3,89,662 करोड़ रुपये कहां गये?”

कांग्रेस ने अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा भूमि खरीद में घोटाले का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उच्चतम न्यायालय से सच का पता लगाने के लिये अदालत की निगरानी में जांच का आदेश देकर “जिम्मेदारी” निभाने का आग्रह किया।

TAGS

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button