छत्तीसगढ़

बाढ़ आपदा से 863 व्यक्तियों को किया गया रेस्क्यू, खोले गये 19 राहत शिविर

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

बिलासपुर: बिलासपुर जिले के मस्तूरी, बिल्हा, तखतपुर तहसील में बाढ़ की स्थिति निर्मित होने के फलस्वरूप 863 व्यक्तियों को रेस्क्यू किया गया है। जिले में 19 राहत शिविर बनाये गये हैं, जहां आपदा से प्रभावित लोगांे को आवास, शुद्ध पेयजल एवं खाद्यान्न मुहैय्या कराया गया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा शुक्रवार को विडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से प्रदेश के सभी जिलों के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की समीक्षा एवं बाढ़ से हुई क्षति की जानकारी ली गई। कान्फ्रेसिंग मंे संभागायुक्त बिलासपुर डाॅ. संजय अंलग, पुलिस अधीक्षक प्रंशात अग्रवाल, वनमण्लाधिकारी और अतिरिक्त कलेक्टर बी.एस.उइके भी उपस्थित थे।

काॅन्फ्रेसिंग में बताया गया कि बिलासपुर जिले में अब तक 1192.4 मिमी औसत वर्षा हुई है। जिले में माह अगस्त में अतिवृष्टि के कारण बिल्हा, मस्तूरी एवं तखतपुर तहसील प्रभावित हुए है। आपदा से 3 जनहानि, 14 पशुहानि और 660 मकान क्षतिग्रस्त हुये है, वहीं 359.274 हैक्टेयर की फसल को क्षति हुई है।

बाढ़ आपदा से 3 सार्वजनिक परिसम्पतियों (एप्रोच रोड) की क्षति हुई है। जलाशयों में 100 प्रतिशत जलभराव हो गया है और आवश्यकतानुसार जल निकासी भी की जा रही है। जिले में बाढ आपदा से हुये नुकसान के लिए आरबीसी 6-4 के तहत् अब 23 प्रकरणों में 2 लाख रूपये से अधिक की राशि प्रभावितों को वितरित की गई है। बाढ़ आपदा से हुये नुकसान का निरंतर आंकलन किया जा रहा है और राहत सहायता के प्रकरण बनाये जा रहे है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button