राष्ट्रीय

आज मनाया जाएगा भारतीय वायुसेना का 88 वां स्थापना दिवस

'आकाशगंगा' यानि आसमान से पैरा-जंप से होगी आज हिंडन एयरबेस पर फ्लाई पास्ट की शुरूआत

नई दिल्ली: भारतीय वायु सेना (IAF) के लिए एक बहुत ही खास दिन हैं. वायुसेना आज गुरुवार को अपना गौरवशाली 88 वां स्थापना दिवस मना रही है. इस स्थापना दिवस को वायु सेना दिवस के रूप में भी जाना जाता है.

एलएसी पर चीन के खिलाफ अपनी ताकत का परिचय देने के बाद भारत की वायु शक्ति की गर्जना आज राजधानी दिल्ली के करीब हिंडन एयर बेस पर देखने को मिलेगी. कुल 56 एयरक्राफ्ट इस बार हिंडन में हिस्सा ले‌ रहे हैं. इसमें राफेल, सुखोई, मिग 29, मिराज, जगुआर और तेजस शामिल हैं. इस दौरान हिंडन एयरबेस पर जबरदस्त फ्लाई पास्ट देखने का मौका मिलेगा जिसमें मुख्य आकर्षण का केंद्र होगा राफेल लड़ाकू विमान होगा. सुबह आठ बजे से कार्यक्रम की शुरुआत होगी.

आज हिंडन एयरबेस पर फ्लाई पास्ट की शुरूआत ‘आकाशगंगा’ यानि आसमान से पैरा-जंप से होगी. इस‌ पैरा-जंप में वायु-सैनिक ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट से पैराशूट कए जरिए जंप लगाएंगे. उसके बाद निशान-टोली के साथ वायुसैनिक मार्च पास्ट करेंगे. इसके बाद वायुसेना के हेवी-लिफ्ट हेलीकॉप्टर्स मी-17वी5 के हिंडन एयरबेस के ऊपर उड़ान से फ्लाई पास्ट की शुरूआत होगी.

मी-17 के बाद आएंगे हाल ही में अमेरिका से लिए हेवीलिफ्ट हेलीकॉप्टर्स, चिनूक. चिनूक हेलीकॉप्टर्स‌ फील्ड-गन्स यानि तोप और दूसरे हेवी‌ सामान ले जाते हुए‌ दिखाई पड़ेंगे. उसके बाद सी-17 ग्लोबमास्टर और आईएल-76 मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट आएंगे.

स्टेटिक-डिस्पिले

हिंडन एयरबेस पर भी सी-130 जे सुपर हरक्युलिस ट्रांसपोर्ट विमान स्टेटिक-डिस्पिले में दिखाई पड़ेगा. इन सभी हेलीकॉप्टर्स और मालवाहक विमानों का इस्तेमाल हाल ही में एलएसी पर चीन से चल रहे टकराव के दौरान बड़ी तादाद में सैनिकों, टैंक तोप और दूसरे सैन्य साजो सामान को बेहद तेजी से फॉरवर्ड लोकेशन पर भेजने के लिए इस्तेमाल किया गया था.

हिंडन एयरबएस के स्टेटिक डिस्पिले में भी राफेल को सबसे बीच में स्थान दिया गया है. फ्लाई पास्ट की दो फॉर्मेशन्स में भी राफेल को जगह दी गई है. पहली ही ‘विजय’ और दूसरी है ‘ट्रांसफॉर्मर’. विजय फॉर्मेशन में राफेल के साथ मिराज-2000 और जगुआर फाइटर जेट्स होंगे तो ट्रांसफॉर्मर में स्वदेशी एलसीए-तेजस‌ और सुखोई लड़ाकू विमान होंगे.

आज हिंडन एयरबेस पर स्वदेशी फाइटर जेट, तेजस भी राफेल के साथ आसमान में करतब करता और गर्जना भरते नजर आएगा. इसके अलावा सुखोई, मिग-29, मिराज 2000 और जगुआर भी आसमान में भारत की हवाई ताकत का परिचय देंगे. स्टेटिक डिस्पिले में अपाचे अटैक हेलीकॉप्टर, आकाश मिसाइल सिस्टम, टोही विमान अवैक्स और स्वदेशी रडार सिस्टम, रोहिणी भी हिंडन एयरबेस पर दिखाई पड़ेंगे. दर्शकों के लिए खास सारंग हेलीकॉप्टर और सूर्यकिरन जेट टीम भी एयरोबेटिक्स करते दिखाई पड़ेंगे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button