खुदाई में मिली 90 साल पुरानी रहस्यमयी मूर्तियां

कांकेर।

दुनिया में उपस्थित सभी प्राकृतिक चीजों में भिन्नता है। कुछ चीजें खूबसूरत और अद्भुत होती हैं, तो कुछ अविश्वसनीय होती हैं। उन प्राकृतिक चीजों में कुछ भी सम्मिलित हो सकता है। फिर चाहें वो पेड़-पौधे हों, नदियां और समुंद्र हो या कुछ और हो।

छत्तीसगढ़ में ऐसी प्राकृतिक मूर्तियां मिली हैं जो रहस्यमयी हैं। करीब 90 साल पुरानी ये प्राचीन मूर्ति खेत में खुदाई के दौरान मिली थी। इस मूर्ति को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। छत्तीसगढ़ के कांकेर शहर के अलबेलापारा में नाग देव और नागिन की प्राचीन मूर्ति स्थापित है।

दोनों मूर्तियां साल 1930 में खुदाई के दौरान निकली थी। स्थानीय लोगों के अनुसार तो यहां रहने वाला एक व्यक्ति अपनी जमीन में पानी की सुविधा के लिए कुआं खुदवा रहा था। इसी दौरान तीन प्राचीन मूर्तियां निकली।

इनमें नाग देव, नागिन और उनके बच्चे की छोटी मूर्ति शामिल हैं। उन्होंने इन मूर्तियों को निकालकर विधि-विधान से पूजा करवाई। इसके बाद वहीं पर एक मूर्तियों को स्थापित कर दिया। चबूतरा में नाग-नागिन के साथ शिवलिंग भी स्थापित किया गया।

अलबेलापारा के रहने वाले लोगों में इन प्राचीन मूर्तियों पर काफी आस्था है। भैयालाल का परिवार और गांव के लोग नागदेव को अपना रक्षक मानते हैं। माना जाता है कि, इस मूर्ती की पूजा करने से उनकी कृपा मिलती है और सर्प से किसी भी प्रकार की हानि का भय दूर हो जाता है।

1
Back to top button