93 वर्षीय सुप्रसिद्ध विचारक देवेन्द्र स्वरूप नही रहे, नई दिल्ली में हुआ निधन

स्वरूप ने स्व. अटल जी, नानाजी देशमुख के साथ वैचारिक यात्रा की

रायपुर: राष्ट्रवादी विचारक, पांचजन्य के पूर्व संपादक तथा आरएसएस के पूर्व प्रचारक, 93 वर्षीय देवेन्द्र स्वरूप का आज नई दिल्ली में निधन हो गया। वे भाजपा के रायपुर शहर जिलाध्यक्ष राजीव अग्रवाल के चाचा थे।

स्वरूपजी संघ के थिंकटेक कहे जाते थे। वे संघ के पूर्व प्रचारक व संघ के मुखपत्र पान्चजन्य के काफ़ी समय तक संपादक रहे। उन्हें आपातकाल में गिरफ़्तार कर तिहाड़ जेल में रखा गया था। उनकी संघ यात्रा 1945 से अनवरत जारी रही व दो माह पूर्व तक लेखन कार्य भी निर्वाधगति से चलता रहा।

स्वरूप ने स्व. अटल जी, नानाजी देशमुख के साथ वैचारिक यात्रा की। उन्होंने एक दर्जन से ज्यादा पुस्तकें लिखी थीं। स्वरूप ने रायपुर के कई दौरे किये तथा उनके विचारों को सुनने पढ़ने का मौका मिलता रहा। देश की साहित्य, पत्रकार बिरादरी और लेखक संघों ने उनके निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की है।

1
Back to top button