राज्यपाल बलराम दास टंडन के देहांत से राजनीति का एक अध्याय समाप्त हो गया : महंत

बलराम दास टंडन ने 18 जुलाई 2014 को छत्तीसगढ़ में राज्यपाल पद की शपथ ली थी।

रायपुर : “छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलराम दास टंडन के निधन से राजनीति का एक अध्याय समाप्त हो गया” यह कहना है छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री चरण दास महंत का,

डॉ महंत ने कहा की टंडन एक कुशल व्यक्तित्व के धनी थे और बहुत ही सुलझे हुए व्यक्ति थे, छत्तीसगढ़ ही नहीं अपितु संपूर्ण राष्ट्र को उनकी कमी खलेगी और साथ ही डॉ महंत ने छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलराम दास जी टंडन के देहांत पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए डॉ चरणदास महंत ने ईश्वर से प्रार्थना की है कि वे परिवार और पूरे छत्तीसगढ़ प्रदेश को इस अपार दुख को सहने की शक्ति प्रदान करें।

छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलराम दास टंडन का जन्म एक नवंबर 1927 को अमृतसर पंजाब में हुआ था। उन्होंने पंजाब विश्वविद्यालय लाहौर से स्नातक की उपाधि प्राप्त की जिसके बाद वे निरंतर सामाजिक और सार्वजनिक गतिविधियों में सक्रिय रहे।

वे कुश्ती, व्हालीबॉल, तैराकी और कबड्डी के प्रखर खिलाड़ी रहे। पंजाब के अमृतसर से पार्षद के रूप में राजनीतिक सफर शुरू करने वाले बलराम दास टंडन 6 बार विधायक रह चुके हैं और पंजाब के कैबिनेट मंत्री भी रहे। बलराम दास टंडन ने 18 जुलाई 2014 को छत्तीसगढ़ में राज्यपाल पद की शपथ ली थी।

Tags
Back to top button