अंतर्राष्ट्रीय

इंडोनेशिया में मिला चीन का एक खुफिया ड्रोन, मछुआरे को मिला यह चीज

सेलायार द्वीप समूह के पास चीनी ड्रोन नजर आया

जकार्ता:इंडोनेशिया में मछली पकड़ने समुद्र में उतरे मछुआरे को पानी के नीचे कुछ अजीब सा दिखाई दिया, जिसे वो साथ ले आया. बाद में जब उसने पुलिस को इसकी सूचना दी तो पता चला कि वो चीन का खुफिया सबमरीन ड्रोन है. फिलहाल, ड्रोन सेना को सौंप दिया गया है, जो यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि आखिर ये ड्रोन इंडोनेशियाई सीमा में आया कैसे.

दक्षिण प्रांत से हुआ बरामद

डेटिक न्यूज की रिपोर्ट में बताया गया है कि सेरुद्दीन नामक मछुआरा 20 दिसंबर को मछली पकड़ने के लिए समुद्र में उतरा था. इस दौरान उसे सेलायार द्वीप समूह के पास चीनी ड्रोन नजर आया.

पुलिस ने ड्रोन को आगे की जांच के लिए सेना को सौंप दिया है. इस सबमरीन ड्रोन को चाइनीज एकेडमी ऑफ साइंसेज द्वारा विकसित किया गया है. बता दें कि सेलायार द्वीप समूह इंडोनेशिया के दक्षिण सुलावेसी प्रांत का हिस्सा है.

पहले भी मिले हैं ऐसे Drone

रिपोर्ट के अनुसार, टारपीडो आकार का ये ड्रोन 7.4 फीट लंबा है. इसमें सामने की तरफ सेंसर हैं जबकि पीछे की तरफ से एंटीना लगा हुआ है. वैसे, यह पहली बार नहीं है सबमरीन ड्रोन इंडोनेशियाई समुद्र में पाए गए हैं. इंडोनेशिया के मासालेम्बु और रियाउ द्वीप समूह पर भी ऐसे ही ड्रोन मिले थे. ये सभी द्वीप समूह दक्षिण चीन सागर और हिंद महासागर को जोड़ने वाले समुद्री मार्गों के पास स्थिति है.

China को लेकर ये आशंका हुई मजबूत

चीन लंबे समय से हिंद महासागर में अपनी उपस्थिति बढ़ाने के लिए काम कर रहा है. हालांकि, यहां भारतीय नौसेना का दबदबा है. अभी ये साफ नहीं हो पाया है कि चीनी ड्रोन ‘हिंद महासागर का दरवाजा’ कहे जाने वाले इंडोनेशिया के पास कैसे पहुंचा. इस ड्रोन के मिलने के बाद इस बात को लेकर आशंका बढ़ गई है कि चीनी सेना खुफिया तरीके से दक्षिण चीन सागर से हिंद महासागर में प्रवेश करने के रास्‍ते की जांच कर रही है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button