पथ विक्रेताओं की समस्याओं को लेकर बनेगी दस सदस्यों की एक कमेटी

पथ विक्रेताओं की समस्याओं को लेकर बनेगी दस सदस्यों की एक कमेटी

रायपुर : फुटकर , ठेले और फेरीवालों के लिए पथ विक्रेता कानून 2014 बनाया गया है लेकिन इस कानून का सही तरीके से पालन नहीं किया जा रहा है.

इसी कानून के बारे में विचार विमर्श करने और पथ विक्रेताओं की समस्याओं को सरकार तक पहुचाने के उदेश्य से फुटपाथ फुटकर विक्रेता संघ और वेंडर फेडरेशन की ओर से साझा विमर्श कार्यक्रम का आयोजन किया गया था.

आशीर्वाद भवन बैरन बाजार में आयोजित इस कार्यक्रम में निर्णय लिया गया है कि पथ विक्रेताओं की समस्याओं को सरकार तक पहुचाने के लिए कमेटी का गठन किया जायेगा.

दस सदस्यों वाली ये कमेटी प्रदेश के मुख्यमंत्री तक वेंडरों की समस्यों को रखेगी. कार्यक्रम आयोजित करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता गौतम बंदोपाध्याय ने बताया कि वर्तमान में रायपुर में ही पथ विक्रेता कानून का सहित तरीके से पालन नहीं किया जा रहा है.

उन्होंने बताया कि रायपुर में सिर्फ 4 हजार पंजीकृत पथ विक्रेता है जबकि यहाँ उससे ज्यादा लोग पथ विक्रेता है लेकिन नगर निगम उनका पंजीयन नहीं कर रही है जिसके चलते उन्हें समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

बंदोपाध्याय ने कहा कि वे लोग इस पूरे मामले को लेकर हाईकोर्ट में गए है और अगर जरुरत पड़ी तो वे सुप्रीम कोर्ट तक जायेंगे.

advt
Back to top button