कोरोना से लड़ने के लिए रूस से आज सुबह दिल्ली पहुंची मेडिकल मदद की एक खेप

भारत को 22 टन से ज्यादा एंटी कोरोना वायरस उपकरण और ड्रग्स मिलेगा

नई दिल्ली: रोकथाम के तमाम प्रयासों के बावजूद देश में लगातार कोरोना की रफ्तार बढ़ती जा रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार, बुधवार को पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3 लाख 60 हजार 960 नए केस सामने आए, इसके साथ ही, कोरोना से रिकॉर्ड एक दिन में 3 हजार 293 संक्रमितों की जान चली गई है. हालांकि 2,61,162 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं. इससे पहले सोमवार को देश में 323,023 नए केस आए थे.

इसी बीच कोरोना से लड़ने के लिए रूस से मेडिकल मदद की एक खेप आज सुबह दिल्ली पहुंची है. रूसी सरकार के मुताबिक भारत को 22 टन से ज्यादा एंटी कोरोना वायरस उपकरण और ड्रग्स मिलेगा. जिसमें ऑक्सीजन उपकरणों की 20 units भी शामिल हैं.

देश में कोरोना की बेकाबू रफ्तार के चलते बिगड़े हालात के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारत के पुराने दोस्त रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बुधवार को फोन पर बात हुई. इस दौरान कोरोना संक्रमण से बनी भयावह स्थिति समेत कई मुद्दों पर दोनों प्रमुख नेताओं के बीच बातचीत हुई.

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बातचीत के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने खुद इस बारे में ट्वीट करते हुए कहा- “मेरे दोस्त राष्ट्रपति पुतिन के साथ आज बेहतरीन चर्चा हुई. हमें कोविड-19 की स्थिति से निपटने पर चर्चा की. कोरोना महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई में समर्थन के लिए मैं रूस के राष्ट्रपति पुतिन का शुक्रिया करता हूं.”

उन्होंने आगे कहा कि हमने विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग खासकर हाइड्रोजन इकॉनोमी सहित अंतरिक्ष अन्वेषण और नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्रों पर चर्चा की. स्पूतनिक-V वैक्सीन पर हमारा सहयोग कोरोना महामारी के खिलाफ मानवता के संघर्ष में मदद करेगा.

रूसी राष्ट्रपति के साथ बात करने के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा- दोनों देशों के बीच सामरिक साझेदारी को और मजबूत करते हुए राष्ट्रपति पुतिन और मेरे बीच 2+2 मंत्री स्तरीय वार्ता विदेश और रक्षा मंत्रियों के बीच होने पर सहमति बनी है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button