कटघोरा में शतमुख कोटि हरिहरात्मक महायज्ञ के आयोजन पर निकली भव्य शोभायात्रा

अरविन्द
कटघोरा
(क्लिपर टाइम्स 17/11/2019 रविवार): कटघोरा में दिनाक 16 नवम्बर से 25 नवम्बर तक होने जा रहे शतमुख कोटि हरिहरात्मक महायज्ञ के आयोजन एवम श्रीमद भागवत कथा ज्ञानयज्ञ विराट सन्त सम्मेलन पर कटघोरा नगर में भव्य शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा तरह तरह की झांकियो से सजाई गई जिसमें भगवान विष्णु,शंकर जी,यमराज,राम जानकी,कृष्ण जी,भारत माता,ब्रम्हा जी और अनेको प्रकार की झांकियो के साथ संत महात्मा व बड़ी संख्या में नगरवासी सामिल हुए।

परमाराध्य सदगुरुदेव स्वामी भजनानंद सरस्वती जी महाराज की पावन स्मृति में विराट संत सम्मेलन का आयोजन किया गया है। आयोजन से कटघोरा नगर व आसपास के क्षेत्रों में वातावरण शुद्ध होगा तथा ऐसे आयोजनों से लोग धार्मिक दृष्टिकोण से जुड़े रहते हैं।

नगर में विराट संत सम्मेलन

स्वामी भजनानंद सरस्वती जी महाराज पावन स्मृति में विराट आध्यात्मिक आयोजन व भागवत कथा ज्ञानयज्ञ व संत सम्मेलन किया जा रहा है।नगरवासि इस आयोजन में बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं और पूरा नगर एक बार फिर से संतो की सेवा में जुट गया है।

झांकी में कई प्रकार की प्रस्तुति सजा कर दिखाई गई है।राजस्थान के उट व घोड़ों के साथ अहिरन नदी से झांकी प्रारम्भ की गई और नगर के बीचों बीच सड़क से गुजरते हुए पंडाल तक पहुँची।नगरवासी झांकियो की सजावट व सुंदरता को देख कर मंत्रमुग्ध होते रहे,नागुपर के ढोल और बरबसपुर के मजीरा वादकों ने लोगो का मन मोह लिया।

भव्य शोभायात्रा में विस् अध्यक्ष डॉ चरण दास महंत, पूर्व विधायक बोधराम कवर, कटघोरा विधायक पुरुषोत्तम कवर पाली तानाखार विधायक मोहित केरकेट्टा,कटघोरा अनुविभागीय अधिकारी(रा)सूर्य किरण तिवारी,तहसीलदार रोहित कुमार सिंह आदि बड़ी संख्या में नेता व अधिकारीगण मौजूद रहे।

पुलिस ने की सुरक्षा के पूर्ण व्यवस्था

विराट शोभायात्रा में हजारों की संख्या में भीड़ इकट्ठी हुई। पुलिस ने पूरे नगर में सुरक्षा को लेकर चाक चौबंद व्यवस्था की गई थी।वाहनों की आवाजाही पर व्यवस्था पूर्णरूप से सुचारू दिखाई दी।पुलिस की व्यवस्था से नगरवाशियो को असुविधा का सामना नही करना पड़ा है।

मुस्लिम भाइयों ने भी दिखाया भाईचारा शोभायात्रा में बाटे फल व बिस्किट

शोभायात्रा में मुस्लिम वर्ग ने भी भाईचारे की मिसाल पेश की है शोभायात्रा में सम्मिलित हुए लोगो के लिए मुस्लिम भाइयो ने कड़ी धूप में खड़े होकर फल,बिस्किट व नास्ते की व्यवस्था की।कटघोरा में सभी धर्मों के लोग त्योहार व आयोजनों पर एकजुट होकर एक दूसरे के प्रति हमेशा भाईचारा रखते हैं।वास्तव में भाईचारे की मिसाल ही देश की संस्कृति व सौहार्द की पहचान है।

Tags
Back to top button