रायपुर

थोड़ी सी जागरूकता से बचा जा सकता है साइबर क्राइम से : प्रो. प्रिया राव

" मैक में स्किल डेव्हलप्मेंट कार्यक्रम के तहत साइबर सुरक्षा विषय पर हुआ व्याख्यान "

रायपुर : रायपुर में स्किल डेव्हलप्मेंट कार्यक्रम के तहत साइबर क्राईम विषय पर व्याख्यान चेयरमेन राजेश अग्रवाल के मार्गदर्शन में आयोजित किया गया । जिसमें मुख्य वक्ता डॉ . प्रिया राव ( सहायक प्राध्यापक लॉ . विभाग पं . रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ) रही । ” आज के इस कोविड महामारी के समय जब सब कुछ ऑनलाईन हो गया है

इंटरनेट के माध्यम से मोबाईल, लैपटॉप पर सारे कार्य करने के लिए मजबूर हो गये है , क्लास 01 से लेकर उच्च शिक्षा तक के लिए सारी कक्षायें सारी पढ़ाई एवं सारे ऑफिसियल कार्य सभी कुछ इंटरनेअ के द्वारा किये जा रहे है, और इन सबके लिए हमें हमारे व्यक्तिगत डेटा , व्यक्तिगत जानकारियों ना चाहते हुए भी इंटरनेअ पर अलग – अलग माध्यमों जैसे वाहट्सअप, फेसबुक , ई – मेल, इंस्टाग्राम , गूगल आदि पर देनी होती है ।थोड़ी सी जागरूकता से बचा जा सकता है साइबर क्राइम से : प्रो. प्रिया राव

आज के तकनीकी युग में जहाँ यह तकनीकी बहुत मददगार साबित हो रही हैं, सारे कार्य आसान हो रहे हैं , हम अपने घर बैठे बहुत सारे जरूरी कार्य आसानी से कर पा रहे हैं । जहाँ तकनीकी और इंटरनेट ने जझै कार्य आसान किया है वहीं इस क्षेत्र में अपराध भी बहुत बढ़ रहे हैं। चूंकि क्रिमिनल लोगों जानकारियाँ आसानी से पहुंच रही है।

साइबर क्राइम का आज पूरी दुनिया सामना कर रही 

व्यक्तिगत जानकारियों का बहुत गलत तरीके से उपयोग कर लोगों को परेशान किया जा रहा है , यहाँ तक कि लोगों का सारा रूपया , पैसा बैंक में जमा पूँजी केवल एक क्लिक से उड़ा दिया जाता है । इस तरह के साइबर क्राइम का आज पूरी दुनिया सामना कर रही है , किन्तुं भारत में इस तरह की वारदातें ज्यादा पैर पसार रही है । जरूरत है आज अपने आपको इस तरह के क्राइम के शिकार से बचा जाए लेकिन कैसे ? और अगर इस तरह के क्राइम के शिकार हो जाते है तो कई बार हमें पता नहीं होता है कि कहाँ जाये ? किससे शिकायत करें ? इन्हीं सब बातों की विस्तृत जानकारी आज मुख्य वक्ता आदरणीया पूजा राव ने दी।

साइबर क्राइम साइबर हैकिंग

उद्बोधन में साइबर क्राइम साइबर हैकिंग , ब्रूफिंग , ई – मेल हैकिंग आदि कई तरह के इंटरनेट की दुनिया के अपराधों की जानकारियां देते हुए बताया कि जानकारियों के अभाव में अक्सर लोग इन अपराधों के शिकार हो जाते हैं , थोड़ी सी जागरूकता और इंटरनेट दुनिया की जानकारियों से इन अपराधों से बचा जा सकता है ।

ऑनलाईन क्लासेस के कारण छोटे बच्चों से लेकर शिक्षकों तक को इन साइबर क्राइम का सामना करना पड़ रहा है , जिसमें कई बार देखा गया है कि क्लास के बच्चे ही इन सब चीजों को अंजाम दे रहे हैं और उन्हें इसकी सजा के बारे में जानकारी भी नहीं होती हैं । ऑनलाईन कक्षाओं में इस तरह के अपराधों से बचने हेतु प्रोफेसर राव ने कई सुरक्षा बिन्दु बताये जिन्हें समी को पालन करना चाहिए जैसे हर बच्चा अपनी प्रॉपर आई डी के साथ विडियों ऑन करके बैठे छात्रों के आने से पहले टीचर को क्लास में आ जाना चाहिए , हर क्लास का स्क्रीन शॉट रखना चाहिए।

आज साइबर क्राइम युग में सबसे ज्यादा लड़कियां शिकार हो रही

शिक्षकों को चाहिए कि चाहे ऑनलाईन कक्षाएं हो लेकिन छात्रों से उसी तरह संपर्क में रहे। अपनी प्रोफेशनल एवं पर्सनल अलग – अलग ई – मेल आई डी बनाए , सभी तरह के कॉल लॉग डिटेल्स को सुरक्षित रखें । इस तरह की जानकारियां देते हुए बताया कि अगर इस तरह की घटनाओं के शिकार हो भी जाते हैं तो बिना घबराए और बिना कुछ छुपाए तुरंत नजदीकी पुलिस स्टेशन एवं साइबर क्राइम सेल में रिपोर्ट दर्ज करवानी चाहिए । इन माध्यमों का किस तरह से पूरी मदद ली जा सकती है इस प्रक्रिया की पूरी जानकारी साझा की । आज साइबर क्राइम युग में सबसे ज्यादा लड़कियां शिकार हो रही है उन्हें अपने आपको कैसे सुरक्षित रखना चाहिए इन सब बातों को बहुत सरल एवं शानदार तरीके से अपने व्याख्यान में बताया जो निःसंदेह सभी के लिए बहुत लाभदायक साबित होगा।

थोड़ी सी जागरूकता से बचा जा सकता है साइबर क्राइम से : प्रो. प्रिया राव

 

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button