सार्वजनिक क्षेत्र की सबसे बड़ी बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम में एक बड़ा बदलाव

10 मई से LIC के सभी कार्यालयों में सप्ताह में होगा पांच दिन काम

नई दिल्ली:कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बीच अपने ग्राहकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सरकार नियंत्रित बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) ने दावे के निपटान से जुड़ी शर्तों में कुछ ढील देने का घोषणा की.

वहीँ LIC ने कहा है कि 10 मई से उसके सभी कार्यालयों में सप्ताह में पांच दिन काम होगा. बीमा कंपनी में शनिवार को अब अवकाश का दिन घोषित किया गया है. कंपनी ने एक सार्वजनिक नोटिस में कहा है कि 15 अप्रैल 2021 की अधिसूचना में भारत सरकार ने भारतीय जीवन बीमा निगम के लिए प्रत्येक शनिवार को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है.

LIC ने नोटिस जारी कर दी सूचना

LIC ने एक आधिकारिक नोटिस जारी कर यह सूचना दी. नए वर्क कल्चर की बात करें तो 10 मई से LIC ऑफिस सप्ताह में पांच दिन, सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 10 बजे से शाम के 5.30 बजे तक ही खुलेंगे.

ऑनलाइन कर निपटा सकते हैं काम

LIC अपने कस्टमर्स को ऑनलाइन सुविधा भी उपलब्ध करवाता है. उसकी आधिकारिक वेबसाइट https://licindia.in/ पर आप सारा काम ऑनलाइन कर सकते हैं. इसके अलावा कोरोना संकट के बीच अपने ग्राहकों की असुविधा को ध्यान में रखते हुए LIC ने दावे के निपटान से जुड़ी शर्तों में कुछ ढील देने का घोषणा की है.

कर्मचारियों के वेतन में भी होगी वृद्धि

इसके अलावा LIC के कर्मचारियों को जल्द ही वेतन बढ़कर मिलेगा. वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग (DFS) ने वेतन संशोधन बिल को मंजूरी दे दी है. एक लाख से ज्यादा एलआईसी कर्मचारियों को वेज रिवीजन बिल से फायदा होगा.

सूत्रों के अनुसार, वेतन बिल में स्वीकृत बढ़ोतरी 16 फीसदी बताई गई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि महंगाई भत्ते (डीए) के 100 फीसदी बेअसर होने के बाद 15 फीसदी की लोडिंग बढ़ोतरी दी गई है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि एलआईसी कर्मचारियों के लिए एक अतिरिक्त विशेष भत्ता भी पेश किया गया है. भत्ते को डीए गणना के उद्देश्य के लिए माना जाएगा, लेकिन यह मकान किराया भत्ता (एचआरए), शहर प्रतिपूरक भत्ता (सीएसए), भुगतान किए गए अवकाश की अदायगी, ग्रेच्युटी, सुपरनेशन लाभ, आदि पर लागू नहीं होगा. साथ ही, विशेष भत्ता 1,500-13,500 रुपये प्रति माह के बीच रहेगा.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button