नाबालिग लड़की का अगवा कर जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया गया निकाह

पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी

जमुई:बिहार के जमुई के अलीगंज प्रखंड स्थित दीननगर गांव में नाबालिग लड़की का अगवा कर जबरन धर्म परिवर्तन कर निकाह कराया गया. इस घटना को लेकर लड़की के पिता ने थाने में मामला दर्ज कराया है.

लव जिहाद पर लड़की के पिता ने थाने में FIR दर्ज कराई

स्थानीय लोगों का आरोप है कि चंद्रदीप थाना क्षेत्र के दीननगर गांव में कुछ युवकों ने हथियार के बल पर एक दलित समुदाय की 13 साल की नाबालिग लड़की को अगवा किया. पहले उसका शारीरिक शोषण किया फिर रविवार की रात गांव में नाबालिग का धर्मांतरण किया. इस घटना के प्रकाश में आते ही इलाके में तनाव का माहौल पैदा हो गया.

नाबालिग लड़की को अगवा कर किया धर्मांतरण

लड़की के पिता ने पुलिस में मामला दर्ज कराया है कि 23 मई को उनकी बेटी देर शाम शौच के लिए घर से बाहर गई , लेकिन घर वापस नहीं लौटी. काफी ढूंढने पर भी उसका कहीं कुछ पता नहीं चला. अचानक 30 मई को पता लगा कि दीननगर निवासी एक शख्स से जबरन धर्म परिवर्तन कराकर उससे निकाह कर लिया.

आरोप है कि इस घटना की जानकारी मिलने के बाद जब लड़की के परिजन अपनी बेटी से मिलने गए तो उनके साथ गलत व्यवहार किया गया. लड़की के परिजनों से जाति सूचक शब्द कहे गए. इतना ही नहीं घर आकर फायरिंग की और हर किसी को धमकाया कि इस मामले की सूचना पुलिस को दी तो आसपास की लड़कियों को भी उठा लिया जाएगा.

लड़की के पिता को दी जान से मारने की धमकी

बताया जा रहा है कि दीननगर गांव में की ये पहली घटना नहीं है. इससे पहले नागोडीह गांव की महिला के साथ कुछ लोगों द्वारा मारपीट की घटना सामने आई थी. साल 2020 में गांव के ही राजो यादव की हत्या कर दी गई थी. स्थानीय लोगों द्वारा बताया गया कि लोग इनके आतंक से यहां से पलायन के लिए मजबूर हैं.

पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी

जमुई के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी डॉक्टर राकेश कुमार ने बताया कि यह मामला प्रेम प्रसंग का है. जिसमें एक धर्म विशेष समुदाय के एक लड़के ने गांव दीननगर की रहने वाली एक नाबालिग अनुसूचित जाति की लड़की से निकाह कर लिया. लड़की नाबालिग है और यह शादी पूरी तरीके से वैध नहीं है.

चंद्रदीप थाना में आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया. आरोपी की गिरफ्तारी के साथ-साथ लड़की को बरामदगी के लिए छापेमारी की जा रही है, जल्द लड़की को बरामद कर लिया जाएगा.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button