छत्तीसगढ़

राईस मिल में महिला मजदूर की साफ्टव्हिल पट्टे के संपर्क में आने से हुई दर्दनाक मौत, थाने में परिजनों ने मचाया हंगामा

अरविन्द शर्मा:

कटघोरा: शहर के कारखाना एरिया में बीते दिन एक राइस मिल में कार्यरत महिला मजदूर की साफ्टव्हिल पट्टे के संपर्क में आने से दर्दनाक मौत हो गई थी। मजदूर महिला की मौत पर परिजनों में जमकर आक्रोश भी बना हुआ था।कल अस्पताल में हंगामा मचाने के बाद आज परिजनों ने कटघोरा थाना में भी मुआवजे की मांग व राइस मिल संचालक पर कार्यवाही की मांग को लेकर जमकर हंगामा मचाया।

पुलिस भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार कारखाना एरिया में ढुङ्गा मार्ग पर प्रगति राइस मिल संचालित है जिसके संचालक ओमप्रकाश गोयल है।यहाँ राइस मील में आसपास के ग्रामीण मजदूरी का कार्य करने आते हैं।बुधवार को शाम ढलने के पूर्व तकरीबन 4 बजे प्रगति राइस मील में दर्दनाक हादसा हो गया।इस हादसे में ग्राम लखनपुर निवासी 21 वर्षीय कविता कंवर पति नितिन कंवर (25) महिला मजदूर की साड़ी का पल्ला साफ्टव्हिल पट्टे के संपर्क में आ गया और महिला बुरी तरह जख्मी होकर बेहोश गई जिसे नजदीकी कटघोरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया,जहां डॉक्टरों ने महिला मजदूर को मृत घोषित कर दिया।

ग्रामीणों द्वारा बताया जा रहा है कि इस घटना की जानकारी समय रहते मील संचालक द्वारा परिजनों को अवगत नही कराया गया,और आनन फानन में मृतिका कविता कवर को कटघोरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेज दिया गया,तब परिजनों को जानकारी दी गई।जिस वजह से परिजनों मे आक्रोश का माहौल बना हुआ है।परिजन मील संचालक की लापरवाही को देखते हुए कार्यवाही की मांग पर अड़ गए और थाना परिसर में एकत्र होकर जमकर हंगामा किये।

परिजनों सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण थाना पहुँचकर हंगामा मचाने लगे,इनकी मांग थी कि मील संचालक पर कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए और मृतिका के परिजनों को उचित मुआवजा मिले पर मील संचालक थाना तक नही पहुचे,जिस वजह से परिजनों सहित ग्रामीणों ने सड़क पर जाम जैसे हालात पैदा कर दिए।इस बीच पुलिसकर्मियों ने भी ग्रामीणों को समझाइश दी और शांति बनाए रखने की अपील की।मील संचालक को थाना बुलाया गया और दोनों पक्षों की चर्चा कराई गई।पुलिस की समझाईश पश्चात करीब घण्टे भर की चर्चा बाद परिजनों का गुस्सा शांत हुआ और परिजन आगे की कार्यवाही के लिये तैयार हुए।

क्या रही हंगामे की वजह

दरअसल इस पूरे हंगामे की वजह पूरी तरह स्पष्ट नही है पर सूत्रों से जानकारी मिली है कि प्रगति राइस मिल में जब यह हादसा घटित हो गया तो मिल संचालक द्वारा परिजनों को समय रहते घटना की जानकारी मुहैया नही कराई गई और मृतिका को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद भेज दिया गया।तत्पश्चात परिजनों को लगभग 2 घण्टे बाद घटना की जानकारी अवगत कराई गई।दूसरी वजह इसे भी माना जा रहा है कि जब परिजनो सहित स्थानीय ग्रामीण मिल संचालक पर कार्यवाही की मांग लेकर थाना पहुचे तो उन्हें कार्यवाही में निराशा जैसे हालातो का सामना करना पड़ा तथा मील संचालक इनके सामने आकर बात करने तक को तैयार नही थे,जिस वजह से परिजनों ने हंगामा मचाना शुरू कर दिया और मुख्यमार्ग पर नारेबाजी के साथ जाम जैसे हालात निर्मित कर दिए।

पुलिसकर्मियों ने परिजनों को समझाईश दी तथा बढ़ते हंगामे पर काबू किया। मील संचालक ओमप्रकाश गोयल को थाना बुलाया गया और इस हंगामे को शांत कराया गया।मिल संचालक ने परिजनों को अंतिम संस्कार हेतु उचित मुआवजा राशि के तौर पर दो लाख रुपये की सहायता राशि प्रदान की तब जाकर परिजन शांत हुए और आगे की कार्यवाही शुरू की गई।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button