छत्तीसगढ़

सारंगढ़ क्षेत्र की एक गर्भवती महिला मिली कोरोना पॉजिटिव, उपचार करने वाले डॉक्टर व नर्स क्वॉरेंटाइन

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़: सोमवार की शाम धर्मजयगढ़ ब्लॉक मैं एक महिला व दो पुरुष की कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई. वहीं सोमवार को सारंगढ़ ब्लॉक के रक्षा क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखी गई एक गर्भवती महिला को लेबर पेन होने पर उसे जचगी के लिए रायगढ़ मेडिकल कॉलेज लाया गया था जिसकी जांच किया तो सोमवार को देर रात पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है.

इस समय जो डॉक्टर व नर्स उक्त महिला का उपचार किए उन्हें अब होम क्वॉरेंटाइन में भेज दिया गया है. इस संबंध मिली जानकारी के अनुसार सारंगढ़ ब्लाक के ग्राम रक्षा निवासी एक महिला कुछ दिन पहले जम्मू के सांबा काम करने के लिए गई थी.

इस दौरान लॉग डाउन में छूट मिलने के बाद वह 22 मई को ट्रेन से रायगढ़ पहुंची. जिसे शासन द्वारा बस में सारंगढ़ भेजा गया. यहां से महिला का एक पिक अप से अपने गांव रक्षा पहुंची .जहां पहले से मौजूद स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा उसे रख सके और इंटर इंटर में रखा गया.

वहीं सोमवार की रात में महिला अचानक लेबर पेन होने लगा ऐसे में उसे उपचार के लिए रात को ही 108 वाहन से कोसीर स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया. लेकिन वहां व्यवस्था नहीं होने की स्थिति में डॉक्टरों ने उसे सोमवार की सुबह करीब 3:00 से 4:00 बजे रायगढ़ मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेज दिया गया.

इस दौरान जब डॉक्टर रायगढ़ में डॉक्टरों ने उक्त महिला की जांच किया तो पता चला कि उसका पहला बच्चा ऑपरेशन हुआ है. इस कारण उसको सही तरीके से पेन नहीं हो रहा है. वहीं डॉक्टरों ने बताया कि यह डिलीवरी सीजर से ही होगी. इस कारण महिला को कहने को वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया.

जब उक्त महिला के बारे में पूरी जानकारी एकत्र किया गया तो पता चला कि यह कुछ दिन पहले ही जम्मू से लौटी है. जिसके बाद डॉक्टरों की टीम ने एहतियात के तौर पर उसकी की से जांच की लेकिन उसका रिपोर्ट निगेटिव आया इससे महिला को कई घंटे तक वार्ड में ही रखा गया था.

इसी दौरान डॉक्टरों ने उक्त महिला का सैंपल लेकर rt-pcr जांच के लिए मेडिकल कॉलेज भेजा गया जहां जांच होने पर सोमवार की देर रात करीब 10:00 बजे पता चला कि उक्त महिला को रन ओं पॉजिटिव है. इसके बाद आनन-फानन में उक्त महिला को आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया गया.

सारंगढ़ में मचा हड़कंप

सोमवार की रात जब पता चला कि सारंगढ़ क्षेत्र में पॉजिटिव का पहला गया है तब क्षेत्र में हड़कंप मच गया. क्षेत्र के लिए यह पहला मामला है इसमें एक भी नहीं मिला था. वहीं महिलाओं की सूचना मिलने पर स्वास्थ्य विभाग के पांच सदस्यों को भेजा गया. जहां फिलहाल में और 18 लोगों की जांच कर लिया गया है. इसके साथ ही प्रशासनिक अधिकारियों की टीम द्वारा में हुई है.

इस दौरान सारंगढ़ एसडीएम एसडीओपी जितेंद्र शतरंज अभिषेक बनर्जी थाना प्रभारी के साथ मौजूद रहे मरीजों की संख्या हुई. उसकी मानें तो जिले में पूर्ण मरीजों की संख्या बढ़कर 19 पहुंच गई है. इस दौरान रायगढ़ जिला रायगढ़ जिले में मरीजों की संख्या 19 पहुंच गई है.

वहीं अब इन चारों मरीजों को उपचार के लिए भेजने की तैयारी की जा रही है. अभी तक जिले में कोई भी मरीज स्वास्थ्य नहीं हुए हैं.

एक साथ तीन मरीज मिलने से हड़कंप

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को देर रात जिले के धर्मजयगढ़ ब्लॉक में तीन तो सारंगढ़ ब्लॉक में एक नए पूर्णा पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है. वहीं धर्मजयगढ़ बी एम ओ बी एल भगत ने बताया कि तीनों पॉजिटिव मरीज विगत 22 मई को मुंबई महाराष्ट्र से लौटे हैं और जिले के धर्म जगह विकासखंड के अलग-अलग फॉर रेंट इन सेंटर्स में रह रहे थे जिससे विजय पानी निवासी दोनों दो पुरुषों को राय मेल क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया था तो किरिया निवासी एक महिला को क्रिया के क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया था.

इस दौरान 22 मई को मुंबई महाराष्ट्र में से एक साथ 13 लोग आए थे जिसको अलग-अलग ग्राम पंचायत में रखा गया था कलेक्टर के निर्देश पर प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम तत्काल कार्यवाही करते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम कंटेंट सिंह वर्ल्ड ट्रेवल हिस्ट्री लेते हुए दोनों पर अपील करते हुए मरीजों को उपचार के लिए रायगढ़ भेजा गया. वहीं करंट को तथा बफर जोन बना दिया गया है. साथ ही पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है. क्वॉरेंटाइन सेंटर पहुंचने वाले मार्गो में बैरिकेडिंग कर दी गई है गई है.

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: