सामग्री प्रबंधन के उभरते आयाम’’ विषय पर सेमीनार सम्पन्न

सामग्री प्रबंधन एक संगठन के विकास के लिए महत्वपूर्ण है। लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आवश्यक वर्तमान और भविष्य की आवश्यकताओं को अग्रिम में नियोजित किया जाना चाहिए और अंतिम लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सामग्रियों का प्रबंधन किया जाना चाहिए- उक्त विचार एसईसीएल के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक श्री ए.पी. पण्डा ने भारतीय सामग्री प्रबंध संस्थान बिलासपुर चेप्टर द्वारा हाॅटल कोर्टयार्ट मेरिएट में ’’सामग्री प्रबंधन में उभरते आयाम’’ विषय पर आज दिनांक 16 फरवरी 2019 को आयोजित सेमिनार की अध्यक्षता करते हुए व्यक्त की। उन्होंने कहा कि बढ़ती अर्थव्यवस्था और बढ़ती ग्राहक अपेक्षाओं ने उत्पाद के अंतिम वितरण में गुणवत्ता और गति को अनिवार्य कर दिया है। यह काफी हद तक उत्पादन की प्रक्रिया के लिए आवश्यक सामग्रियों पर निर्भर करता है। सामग्री प्रबंधन के क्षेत्र में कार्य करने वाले लोगों को नवीनतम नियम-कानूनों की जानकारी होनी चाहिए। इस सेमिनार के आयोजन से निश्चय ही इन विषयों को समझने में सहायता होगी।
इस अवसर पर सामग्री प्रबंधन के कई महत्वपूर्ण विषयों जैसे काॅगनिटिव कम्प्यूटिंग, प्रक्रियाओं का स्वचालन, योजना आदि पर चर्चा की गयी। इस सेमिनार में विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा प्रस्तुत सुझाओं को पूर्ण करने पर विचार किया गया ताकि कार्य के दौरान आने वाली कठिनाईयों का समाधानपूर्वक हल किया जा सके। सेमिनार में प्रोक्योरमेंट कैलेंडर्स, पारदर्शी दिशा-निर्देशों और लघु व मघ्यम उद्यमों के प्रोत्साहन के व्यापक प्रचार पर चर्चा की गयी।
इस अवसर पर अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक श्री ए.पी. पण्डा के साथ ही श्री जी0के0 सिंह राष्ट्रीय अध्यक्ष आईआईएमएम, निदेशक तकनीकी (संचालन) श्री कुलदीप प्रसाद, निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) श्री आर.के. निगम, निदेशक (वित्त) श्री एस.एम. चैधरी, मुख्य सतर्कता अधिकारी श्री बी.पी. शर्मा प्रमुखता से उपस्थित थे।
कार्यक्रम के प्रारंभ में महाप्रबंधक (सामग्री प्रबंधन) श्री वी.पी. सिंह ने स्वागत उद्बोधन प्रस्तुत किया उपरांत पुलवामा हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इस अवसर पर एसईसीएल, एनटीपीसी, रेलवे और अन्य सरकारी संस्थानों के साथ-साथ निजी संस्थानों, आईआईएमएम के पदाधिकारीगण बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Back to top button