कान दर्द में जरा-सी लापरवाही बन सकती है बहरेपन का कारण

हमारी जरा-सी लापरवाही कान के बहरेपन का कारण बन सकती है।

चोट लगने से कान में दर्द होना आम बात है। कान में सूजन या इन्फेंक्शन होने के कारण भी कान दर्द हो सकता है। अगर कान के बाहरी हिस्से में इन्फेंक्शन है तो इसे ‘ओटाइटिस एक्सटर्ना’ और कान के बीच की इन्फेंक्शन को ‘ओटाइटिस मिडिया’ कहते है।

हमारी जरा-सी लापरवाही कान के बहरेपन का कारण बन सकती है। इसकी वजहें जानकर कान में होने वाले दर्द से बचा जा सकता है। आइए जानते हैं कि इसमें काैन-सी बातों का ध्यान रखने की जरुरत है।

कान में दर्द होने के कारण

1. चोट लगना

2. कान का पर्दा फट जाना

3. कान में फुंसी होना

4. मैल जमने के कारण

5. कान के अंदर कीड़ा होना

6. उंचाई पर चढ़ने के कारण

7. हवाई यात्रा करने पर पर

कान दर्द होने पर दिखते हैं ये लक्षण

1. कान में तेज दर्द होना

2. कान में भारीपन आना

3. कम सुनाई देना

4. घंटी बजने जैसा महसूस होना

5. चक्कर आना

6. कानों में सूजन होना

7. कानों का रंग लाल होना

8. कानों का बहना

सावधानियां और बचाव

1. कानों में मैल जमने पर माचिस की तीली का इस्तेमाल भूलकर भी न करें।

2. कानों की सफाई के लिए हमेशा ईयर बड का इस्तेमाल करें।

3. हवाई जहाज की लैंडिंग के दौरान कान दर्द वालों को सोना नहीं चाहिए।

4. बार-बार दर्द होने पर पेन किलर न लें बल्कि कानों के स्पेशलिस्ट को दिखाएं।

5. नहाने के बाद कानों को अच्छी तरह साफ कर लें क्योंकि पानी के कारण कान का इन्फेंक्शन हो सकता है।

6. नाक में डालने वाले स्प्रे का इस्तेमाल कान दर्द होने पर भी कर सकते है।

7. च्यूगिंम चबाने से भी कान का दर्द कम होता है।

8. ज्यादा पानी पीना चाहिए जिससे यूस्टेसकियन ट्यूब ठीक रहेगा।

इन बातों का ध्यान रखकर आप न सिर्फ कान दर्द की वजह जान सकते है बल्कि कान में होने वाली समस्याओं से भी बच सकते हैं।

<>

Back to top button