बीजेपी की ओर से एक तथाकथित ऑडियो क्लिप जारी, बंगाल में विवाद

तृणमूल कांग्रेस ने ऑडियो क्लिप को 'फर्जी' करार दिया

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस ने उस ऑडियो क्लिप को ‘फर्जी’ करार दिया जिसमें कहा जा रहा है कि वह 10 अप्रैल के दिन मतदान के दौरान CISF की गोली से मारे गए चार लोगों के शवों के साथ रैलियां करें. तृणमूल कांग्रेस ने ऑडियो क्लिप को ‘फर्जी’ करार दिया और कहा कि इस तरह की कभी कोई बात नहीं हुई.

दरअसल बीजेपी की ओर से एक तथाकथित ऑडियो क्लिप जारी किए जाने के बाद बंगाल में विवाद खड़ा हो गया है. इस ऑडियो में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कूचबिहार के सीतलकूची से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार से कथित तौर पर यह कहती सुनाई देती हैं कि वह 10 अप्रैल के दिन मतदान के दौरान CISF की गोली से मारे गए चार लोगों के शवों के साथ रैलियां करें.

“ममता बनर्जी दंगे भड़काने की कोशिश कर रहीं”

बनर्जी और सीतलकूची विधानसभा सीट से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार पार्थ प्रतिम राय के बीच टेलीफोन पर हुई कथित बातचीत के अंश जारी करते हुए बीजेपी की आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने दावा किया कि ममता बनर्जी अपनी पार्टी के नेताओं से शवों के साथ रैलियां करने की बात कहकर दंगे भड़काने की कोशिश कर रही हैं.

मालवीय ने कहा, “वह (बनर्जी) अपनी पार्टी के उम्मीदवार से कह रही हैं कि मामला इस तरह का बनाया जाए कि पुलिस अधीक्षक (कूचबिहार) और केंद्रीय बलों के कर्मियों-दोनों को फंसाया जा सके. क्या किसी मुख्यमंत्री से ऐसी उम्मीद की जाती है? वह केवल अल्पसंख्यकों के वोट हासिल करने के लिए भय का माहौल पैदा करने की कोशिश कर रही हैं.”

क्या है कूचबिहार की घटना

कूचबिहार जिले के सीतलकूची मतदान केंद्र पर 10 अप्रैल को चौथे चरण के मतदान के दौरान स्थानीय लोगों के कथित हमले और राइफल छीनने की कथित कोशिश के बाद केंद्रीय बलों की गोलीबारी में चार लोग मारे गए थे. बीजेपी के सूत्रों ने कहा कि पार्टी ऑडियो क्लिप के मुद्दे पर निर्वाचन आयोग जाएगी.

तथाकथित ऑडियो में बनर्जी, राय से यह कहती सुनाई देती हैं कि मतदान खत्म होने तक गुस्सा शांत रखें. वह कथित तौर पर यह कहती सुनाई देती हैं, “घबराइए मत. आप अगले दिन शवों के साथ रैली करने के इंतजाम करें और वकील से विमर्श करें. पुलिस में शिकायत दर्ज कराएं जिससे कि न तो एसपी बच सके और न ही आईसी.”

सीतलकूची से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार ने ऑडियो को ‘फर्जी’ करार दिया. उन्होंने कहा, ‘इस तरह की बातचीत कभी नहीं हुई. बीजेपी पांचवें दौर के मतदान से पहले लोगों को केवल गुमराह करने की कोशिश कर रही है.’

पूर्व में, बनर्जी ने गोलीबारी को नरसंहार करार दिया था और इसे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की साजिश बताया था. तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि भाजपा राज्य के लोगों के साथ खेल न खेले.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button