ताइवान में सुरंग के भीतर पटरी से उतर गई यात्रियों से भरी एक रेल

अभी तक चार लोगों की मौत हो गई है और कम से कम 20 लोग गंभीर रूप से घायल

नई दिल्ली:ताइवान में ताइतुंग की ओर जा रही रेल अचानक पटरी से उतर गई. फिर सुरंग के भीतर ही रेल की टक्कर दीवार से हो गई. इस हादसे में अभी तक चार लोगों की मौत हो गई है और कम से कम 20 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं.

अधिकारियों का कहना है कि अभी भी कुछ लोगों के शव सुरंग के अंदर ही हैं, जिन्हें निकालने की कोशिश की जा रही है. घटना की जानकारी मिलते ही यहां बचाव दल पहुंचा है, जो लोगों को बाहर निकाल रहा है. अभी तक कम से कम 15 लोगों को अस्पताल भेजा गया है.

ऐसी आशंका है कि मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है. हादसे के समय रेल में 350 यात्री सवार थे. बयान में कहा गया है, ‘प्राथमिक तौर पर ऐसा लग रहा है कि कई लोगों की मौत हुई है.’ हादसा ऐसे समय में हुआ है, जब सालाना टॉम्ब स्वीपिंग फेस्टिवल के कारण लंबी छुट्टियां चल रही हैं. इस दौरान ताइवान की सड़क से रेलवे तक सब व्यस्त रहता है.

ट्रेन के ऊपर गिरा ट्रक

ताइवान की पूर्वी रेलवे लाइन पर्यटकों के बीच काफी मशहूर है. बड़ी संख्या में लोग यहां घूमने आते हैं. रिपोर्ट्स में कहा गया है कि एक ट्रक ऊपर से नीचे गिरा, उस समय रेल सुरंग से गुजर रही थी. तस्वीर में भी ट्रक को रेल के पास पड़ा हुआ देखा जा सकता है. अभी तक रेल सुरंग के भीतर ऐसे ही फंसी हुई है. जिसके कारण यात्रियों को जान बचाने के लिए खिड़कियों, दरवाजों और रेल की छत का सहारा लेना पड़ रहा है. बचाव दल के अनुसार, ट्रक के गिरने से रेल को काफी क्षति पहुंची है. घटना के वीडियो और तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गए हैं.

पहले भी हुए हैं हादसे

इससे पहले ताइवान में अक्टूबर 2018 में भी रेल हादसा हुआ था, तब एक एक्सप्रेस ट्रेन उत्तरपश्चिमी तट पर पटरी से उतर गई थी. जिसमें 18 लोगों की मौत हो गई थी और करीब 200 लोग घायल हुए थे (Train Accidents in Taiwan). वहीं साल 1991 में भी पश्चिमी ताइवान में ट्रेन के टकराने से 30 लोगों की मौत हो गई थी. साथ ही 112 लोग घायल हुए थे. इसे ताइवान में हुआ सबसे घातक रेल हादसा माना जाता है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button