मां के अपमान से आहत एक युवक ने अपने रिश्तेदारों को ऐसे दिया जवाब

54 वर्षीय महिला को उनके रिश्तेदारों ने सुर्ख लाल लिपस्टिक लगाने पर बुरा-भला कहा

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक 54 वर्षीय महिला को उनके रिश्तेदारों ने सुर्ख लाल लिपस्टिक लगाने पर बुरा-भला कहा। उसे उसकी उम्र का हवाला देकर लिपस्टिक न लगाने की सलाह दी गई।

वहां मौजूद उनके बेटे पुष्पक ने इस अपमान को उन्हें अलग ढंग से समझाने की ठानी। उसने देर शाम अपना एक फोटो पोस्ट किया। फोटो में वह दाढ़ी, आंखों में काजल और लाल लिपस्टिक लगाए नजर आया। उसके हाथ में वो लिपस्टिक भी थी, जिसे लेकर हंगामा हुआ। युवक ने पोस्ट के साथ पूरा वाकया भी बताया।

लोग पुष्पक के इस प्रयास को सराहते हुए नजर आ रहे हैं। इस फेसबुक पोस्ट को 17 हजार से ज्यादा लाइक्स मिले हैं। My mother, a woman of 54 years, got slutshamed, by some of our nearest relatives, for wearing a red lipstick at a family… Posted by Pushpak Sen on Monday, 9 November 2020

पुष्पक ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा: मेरी मां जो कि 54 साल की है, को हमारे कुछ करीबी रिश्तेदारों द्वारा एक समारोह में लाल लिपस्टिक लगाने के लिए काफी कुछ कहा गया। मेरी मां शर्मिंदगी महसूस कर रही थी। इसलिए कल मैंने उन सभी को ‘गुड मॉर्निंग, जल्द ठीक हो जाओ’ के साथ यह तस्वीर भेजी।

मुझे सबसे ज्यादा चकित करने वाली बात यह है कि इनमें से कुछ रिश्तेदारों के बच्चे हैं, जोकि सोशल मीडिया पर काफी जागरूक हैं। तब वे भी वहां मौजूद थे जब यह ‘गॉसिप’ हो रही थी, लेकिन उन्होंने एक शब्द भी नहीं कहा।

यहां मैं हूं, दाढ़ी वाला पूरा चेहरा और लाल लिपस्टिक वाला एक आदमी। यहां मैं सभी माताओं, बहनों, बेटियों, गैर पुरुषों और उन सभी महिलाओं के लिए खड़ा हूं, जिन्हें एक असुरक्षित समाज की विषाक्तता के कारण अपनी इच्छाओं को दबाना पड़ा है।

फेसबुक पर वायरल हुआ पोस्ट पुष्पक के इस पोस्ट को 9.5 हजार से अधिक लाइक्स और 3.2 हजार से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका है. लोग पुष्पक सेन की जमकर तारीफ कर रहे हैं. कुछ लोगों ने इस बीच अपनी भी आपबीती कमेंट के माध्यम से साझा की है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button