राष्ट्रीय

मुख्य सचिव से मारपीट के आरोप में AAP विधायक जारवाल गिरफ्तार, अमानतुल्ला की खोज तेज

दिल्ली पुलिस का कहना है कि इस मामले में आरोप दूसरे विधायकों की भी तलाश की जा रही है

मुख्य सचिव से मारपीट के आरोप में AAP विधायक जारवाल गिरफ्तार, अमानतुल्ला की खोज तेज

दिल्ली के मुख्य सचिव से बदसलूकी के मामले में पुलिस ने आम आदमी पार्टी के विधायक प्रकाश जारवाल को गिरफ्तार कर लिया है. प्रकाश की गिरफ्तारी उस वक़्त हुई जब वो एक शादी में शरीक होने जा रहे थे उसी दौरान खानपुर रेड लाइट पर उन्हें हिरासत में लिया गया. सूत्रों के मुताबिक जारवाल को पहले डिफेन्स कॉलोनी थाने लाया गया बाद में उन्हें सिविल लाइन थाने लाया गया है.

दक्षिणपुरी से आम आदमी पार्टी के पार्षद प्रेम चौहान, प्रकाश जारवाल के छोटे भाई अनिल और कुछ AAP कार्यकर्ता सिविल लाइन पहुंचे लेकिन उन्हें प्रकाश जारवाल से मिलने नहीं दिया गया. पार्षद प्रेम चौहान ने दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाया कि पुलिस ने इस मामले में जिस तरह से कार्रवाई की है वो राजनीति से प्रेरित है. प्रेम चौहान ने आरोप लगाया है कि जिस तरह से विधायक को रात में गिरफ्तार किया गया वो सही नहीं है.

अमानतुल्ला की तलाश जारी
पुलिस फिलहाल प्रकाश जारवाल से पूछताछ कर रही है. इसके अलावा ओखला से AAP विधायक अमानतुल्ला खान जो कि इस मामले में प्रमुख आरोपी हैं, उनकी तलाश में भी पुलिस ने ओखला स्थित उनके घर पर दबिश दी लेकिन अमानत घर पर नहीं मिले.

गिरफ्तार हुए प्रकाश जारवाल देवली से आम आदमी पार्टी के विधायक हैं. ये भी मुख्यमंत्री आवास पर सोमवार रात हुई उस बैठक में मौजूद थे, जिसमें मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने मारपीट का आरोप लगाया है. प्रकाश जारवाल ने मुख्य सचिव पर भी गंभीर आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि मुख्य सचिव ने उनके लिए जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया है.

जारवाल ने मंगलवार को दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के खिलाफ इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने मुख्य सचिव पर जातिसूचक शब्द कहने का आरोप लगाते हुए एससी एसटी कमीशन में शिकायत दी है. जारवाल का दावा है कि बैठक में मुख्य सचिव उन पर चिल्लाने लगे और कहा कि तुम विधायक बनने के लायक नहीं हो.

ये हैै पूरा मामला
बता दें कि मुख्य सचिव ने आरोप लगाया है कि सोमवार देर रात मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर उन्हें मीटिंग के लिए बुलाया गया था. इस दौरान आम आदमी पार्टी विधायकों ने सरकारी विज्ञापन रिलीज करने का दबाव बनाया और उनके साथ मारपीट की. इस घटना के बाद मुख्य सचिव ने मंगलवार को दिल्ली पुलिस में शिकायत दी, जिसके बाद ओखला विधायक अमानतुल्ला समेत अन्य विधायकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया.

दिल्ली पुलिस का कहना है कि इस मामले में आरोप दूसरे विधायकों की भी तलाश की जा रही है. बता दें कि इन विधायकों पर आपराधिक साजिश और सरकारी अधिकारी के काम बाधा डालने जैसी गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया गया है.

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.